नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम को केएल राहुल के तौर पर विकेटकीपर-बल्लेबाज का विकल्प क्या मिला रिषभ पंत की तो जैसे किस्मत ही खराब हो गई। अब टीम के कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट भी केएल राहुल को ही इस रोल में आगे देखना चाहते हैं और खुद राहुल भी ये कह चुके हैं कि वो अपनी इस नई जिम्मेदारी और रोल का पूरा लुत्फ उठा रहे हैं। फिलहाल तो ऐसा लग नहीं रहा कि केएल राहुल को इस जिम्मेदारी से हटाया जाएगा और अब तो टीम इंडिया को कोच रवि शास्त्री ने भी रिषभ पंत को लेकर कुछ ऐसा कहा है जो उनके हक में तो बिल्कुल भी नहीं है। 

रवि शास्त्री ने कहा कि रिषभ पंत काफी टैलेंटेड हैं, लेकिन उन्हें अपनी विकेटकीपिंग स्किल पर काफी मेहनत करने की जरूरत है ताकि वो अपनी प्रतिभा के साथ न्याय कर सकें। उन्होंने कहा कि पंत को सचमुच अपनी विकेटकीपिंग पर काफी मेहनत करनी होगी। शास्त्री ने कहा कि वो नैचुरल (स्वाभाविक) विकेटकीपर नहीं हैं और उनके अंदर जो प्रतिभा है वो जाया चली जाएगी जब तक वो अपनी कीपिंग सही नहीं करते।

शास्त्री ने कहा कि मुझे लगता है कि उन्हें अपनी गलती का अहसास है और आप देख सकते हैं कि वो काफी कड़ी मेहनत कर रहे हैं जिसमें विकेटकीपिंग भी शामिल है। रवि शास्त्री ने दि हिंदु से बात करते हुए ये बातें कही। उन्होंने ये भी कहा कि उनका टीम इंडिया में बने रहना इस बात पर निर्भर करता है कि वो अपनी प्राइमरी स्किल यानी विकेटकीपिंग में किस तरह का प्रदर्शन करते हैं। 

रिषभ पंत जनवरी के पहले सप्ताह तक विकेटकीपर के तौर पर पहली पसंद थे, लेकिन मुंबई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए वनडे मैच में पैट कमिंस की गेंद उनके हेलमेट पर लग गई और उन्हें मैच से बाहर होना पड़ा। इसके बाद केएल राहुल के ये जिम्मेदारी दी गई और रिषभ के फिट होने के बाद भी राहुल ये रोल निभा रहे हैं। राहुल की विकेटकीपिंग से टीम मैनेजमेंट काफी प्रभावित हुई और कप्तान ने उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ टी 20 सीरीज के पहले मैच में भी ये मौका दिया। इस मैच में उन्होंने खुद को साबित किया और विकेटकीपिंग भी की साथ ही 27 गेंदों पर 56 रन की शानदार पारी भी खेली। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस