मुंबई, आइएएनएस। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने एक बार फिर अपनी यादों का पिटारा खोला है और इस बार रणजी ट्रॉफी के दिग्गज बल्लेबाज अमोल मजूमदार की अपने साथ वाली तस्वीर निकाली है।  रवि शास्त्री ने अमोल मजमूदार के साथ अपनी एक पुरानी फोटो शेयर की और लिखा है कि मजूमदार का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर टेस्ट ना खेलना भारत का नुकसान था।

57 वर्षीय शास्त्री ने फोटो ट्वीट कर लिखा कि रणजी ट्रॉफी के दिग्गज खिलाड़ी के साथ एक फोटो- अमूल मजूमदार। मेरा अंतिम सत्र उनका पहला सत्र था। मुझे अब भी लगता है कि अमोल मजूमदार का टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना भारत का नुकसान था।

With one of #RanjiTrophy giants - @amolmuzumdar11. My last season was his first. I still believe it was #TeamIndia’s loss to not see him in whites. #GentleGiant #Mumbai @MumbaiCricAssoc pic.twitter.com/vf5IAHd6Ol

अमोल मजूमदार का घरेलू क्रिकेट का सफर शानदार रहा है। 20 साल के अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उन्होंने 11,000 रन बनाए हैं जिसमें 30 शतक शामिल हैं। अमोल ने भी इस तस्वीर को रिट्वीट करते हुए अपना जवाब दिया और रवि शास्त्री को अपना हीरो बताया।

 He was my hero growing up. When he put his arm around my shoulder after we won the Ranji Trophy at Wankhede 1993-94 n said well done young man.! It is a memory I cherish even today. So thank you 👍 skipper.. You taught us to Win.! https://t.co/VtKV6VvAOD" rel="nofollow

इसमें कोई शक नहीं था कि अमोल मजूमदार एक शानदार बल्लेबाज थे, लेकिन जिस वक्त वो खेल रहे थे उस वक्त भारतीय टीम में सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ जैसे अन्य और कई बड़े खिलाड़ी मौजूद थे और शायद यही एक बड़ी वजह रही कि उन्हें नेशनल टीम में मौका नहीं मिल पाया। अपने फर्स्ट क्लास करियर को अलविदा कहने के बाद अमोल ने कोचिंग में अपना हाथ आजमाया और वो नीदरलैंड के बल्लेबाजी कोच रह चुके हैं साथ ही वो राजस्थान रॉयल्स के भी बैटिंग कोच हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस