नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने इस बात का खुलासा किया है कि वे वर्ल्ड कप 2019 के बाद से महेंद्र सिंह धौनी से नहीं मिले हैं। इसके अलावा रवि शास्त्री ने एमएस धौनी के संन्यास पर भी एक बड़ा बयान दिया है। धौनी फिलहाल भारतीय टीम से दूर हैं, क्योंकि वेस्टइंडीज के बाद वे घरेलू सीरीज में साउथ अफ्रीका के खिलाफ भी नहीं खेले और बांग्लादेश के खिलाफ होने वाली सीरीज से भी नाम वापस ले लिया है। 

पुणे में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाले दूसरे टेस्ट मैच से एक दिन पहले हेड कोच रवि शास्त्री ने एक इंटरव्यू दिया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि धौनी को कमबैक करना है या फिर संन्यास लेना है? इसका फैसला वे खुद करेंगे या फिर सलेक्टर्स को करना है। साथ ही साथ रवि शास्त्री ने एमएस धौनी के विकल्प के तौर पर देखे जा रहे रिषभ पंत को लेकर भी काफी कुछ चर्चा की है। 

खुद फैसला करेंगे धौनी 

रवि शास्त्री ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा, "अगर धौनी को कमबैक करना है, तो उसका फैसला उन्हें खुद करना होगा। मैं वर्ल्ड कप के बाद से उनसे नहीं मिला हूं। सबसे पहले तो उसे खेलना स्टार्ट करना होगा, फिर देखते हैं कि आगे क्या होता है। मुझे नहीं लगता कि वर्ल्ड कप के बाद से धौनी ने खेलना स्टार्ट किया है। यदि वह खेलने के लिए उत्सुक है, तो वह निश्चित रूप से चयनकर्ताओं को बताएगा। वह हमारे लिए हमेशा एक महान खिलाड़ी है।"  

इंग्लैंड और वेल्स में खेले गए वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल के बाद में एमएस धौनी ने सिर्फ एक बार बल्ला पकड़ा है और वो भी जम्मू-कश्मीर में आर्मी की ट्रेनिंग के बाद लेह में उन्होंने स्कूल के बच्चों के साथ एक दो गेंद खेली थीं। माना जा रहा है कि धौनी लगातार तीन सीरीजों से आराम करने के बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ दिसंबर में होने वाली 3-3 मैचों की वनडे और टी20 सीरीज में उतर सकते हैं। 

रिषभ पंत को दिए जाएंगे मौके

वर्ल्ड कप के बाद जब वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टीम की चयन हुआ तो चयनकर्ताओं ने बताया कि धौनी ने खुद को इस दौरे के लिए उपलब्ध नहीं बताया है। वहीं, धौनी की गैरमौजूदगी में रिषभ पतं लिमिटेड ओवर्स की क्रिकेट में भारतीय टीम के रिप्लेसमेंट के तौर पर होंगे। भविष्य के लिए उन्हें मौके दिए जाएंगे। वहीं, रवि शास्त्री ने कहा है कि रिद्धिमान साहा दुनिया के सबसे अच्छे विकेटकीपर्स में से एक हैं।  

शास्त्री का कहना है, "रिद्धिमान साहा जब चोटिल हो गए थे, तो रिषभ पंत को मौका दिया गया था और उन्होंने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में शतक जड़े थे।" रवि शास्त्री ने ये भी स्वीकार किया है कि रिषभ पंत को अभी विकेटकीपिंग की तमाम बारीकियों पर काम करना होगा। शास्त्री ने कहा है कि वे टैलेंटेड हैं, लेकिन उन्हें समझदारी के साथ खेलना सीखना चाहिए। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप