नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने काफी अरसे बाद टीम में वापसी करने वाले बल्लेबाज सुरेश रैना की जमकर तारफी की। शास्त्री ने कहा कि रैना ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी 20 सीरीज में जिस तरह से बल्लेबाजी की उसे देखकर ये लग रहा था कि वो लंबे समय से टीम का ही हिस्सा हैं। 

रवि शास्त्री ने रैना के बारे में कहा कि वो भारतीय टीम के अनुभवी खिलाड़ी हैं और उन्होंने दिखाया कि अनुभव का क्या फायदाहोता है। रैना ने पूरी सीरीज के दौरान सबसे ज्यादा प्रभावित किया वो थी उनकी बेखौफ बल्लेबाजी। जब भी कोई खिलाड़ी लंबे वक्त के बाद टीम में जगह पाता है तो उसकी पहली कोशिश यही होती है कि वो टीम में अपना स्थान पक्का करे। इससे उस खिलाड़ी पर दबाव और ज्यादा बढ़ जाता है लेकिन रैना की बल्लेबाजी देखकर यही लग रहा था जैसे वो टीम के कभी बाहर ही नहीं हुए थे। उन्होंने दिलेरी से बल्लेबाजी की और ये देखना काफी सुखद था। टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के बारे में रवि शास्त्री ने कहा कि वो काफी टैलेंटेड हैं और मुझे यकीन है कि अपनी गलतियों से वो जरूर सीख लेंगे। 

आपको बता दें कि सुरेश रैना ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टी20 मैचों की सीरीज के आखिरी मुकाबले में 27 गेंदों पर 43 रनों की तूफानी पारी खेली थी साथ ही उन्होंने एक विकेट भी लिया था और उन्हें इस मैच में मैन ऑफ द मैच चुना गया था। रैना की पारी के दम पर भारत ने आखिरी मैच में मेजबान टीम को हराकर टी20 सीरीज अपने नाम की थी। रैना ने टी 20 प्रारूप में एक वर्ष के बाद टीम में वापसी की थी लेकिन उनकी बल्लेबाजी से यही लगा कि वो हमेशा से ही टीम का हिस्सा रहे हों। टीम में वापसी के बाद दूसरे मैच में भी उन्होंने 24 गेंदों पर 31 रन बनाए थे। रैना अब निदाहस ट्रॉफी में श्रीलंका और बांग्लादेश के खिलाफ टी20 ट्राई सीरहीज में खेलते हुए नजर आएंगे जहां अच्छा प्रदर्शन कर वो एकदिवसीय टीम में जगह पक्की करने की कोशिश करेंगे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप