नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। विराट कोहली की बल्लेबाजी का फार्म इन दिनों चर्चा का विषय है। कोहली इन दिनों अपनी क्षमता व अपने कद के मुताबिक तो बल्लेबाजी बिल्कुल भी नहीं कर पा रहे हैं। हालांकि वो स्कोर करते हैं, लेकिन बड़े नंबर तक वो नहीं पहुंच पा रहे हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज की बात हो या फिर श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज की कोहली ने बेहद निराश करने वाला प्रदर्शन किया था। कोहली की तुलना हमेशा ही सचिन तेंदुलकर के साथ की जाती है और इस विषय पर पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर राशिद लतीफ ने भी अपनी राय रखी। उन्होंने सचिन और कोहली की बल्लेबाजी की एक मुख्य एरिया के बारे में बात की जहां दोनों एक-दूसरे से काफी अलग नजर आते हैं। 

लतीफ ने यूट्यूब चैट के दौरान कहा कि जब मैं कोहली के बारे में बात करता हूं तो वो हमेशा स्टंप के एक्रास जाते हैं। वो एक महान खिलाड़ी हैं लेकिन यहीं पर पकड़े जाते हैं। बाटम हैंड का खिलाड़ी जब एक्रास जाता है तो यहीं पर वो गलती करता है। वो इसलिए जब गेंद चली जाती है तो उसे समस्या होती है। इस साल श्रीलंका की टीम भारत दौरे पर आई थी और मैच के दौरान गेंद नीची रह रही थी। ऐसी लो पिच पर सचिन कभी भी आउट नहीं होते, लेकिन विराट कोहली आउट हो रहे थे। इस तरह की पिच पर सचिन अपनी रणनीति बदल देते और वो क्रीज के अंदर आ जाते। इससे फायदा ये होता कि गेंद स्पिन ज्यादा करे तो भी वो आसानी से बल्लेबाजी कर लें। 

लतीफ ने कहा कि सचिन को भी इस तरह की परेशानी कई बार हुई थी और साल 2006 में कराची में उन्हें आसिफ ने आउट किया था, लेकिन वो ज्यादातर समय वो खुद को एडजस्ट कर लेते थे। अगर सचिन और कोहली की मुझे तुलना करनी है तो अंतर कहां पर है ये साफ पता चलता है। खराब पिचों पर सचिन तेंदुलकर से बेहतर बल्लेबाज कोई नहीं है। यानी लतीफ ये कहना चाह रहे थे कि विराट कोहली को भी सचिन की तरह से ही अपनी बल्लेबाजी में स्थिति के मुताबिक बदलाव करना चाहिए जिससे कि वो सफल हो सकें। 

Edited By: Sanjay Savern