नई दिल्ली, प्रेट्र। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर सकलैन मुश्ताक अब तक ये नहीं समझ पाए हैं कि आर अश्विन जैसा शानदार प्रदर्शन करने वाले स्पिनर को सिमिति ओवर के प्रारूप में भारत की तरफ से खेलने का मौका क्यों नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो गेंदबाज टेस्ट क्रिकेट में सफल है वो शॉर्टर प्रारूप में भी सफल हो सकता है। 

अश्विन आइपीएल में लगातार खेल रहे हैं, लेकिन वो जुलाई 2017 के बाद से भारत के लिए सिमित ओवर के प्रारूप में नहीं खेल रहे हैं। हालांकि रवींद्र जडेजा के साथ भी कुछ ऐसा ही था, लेकिन अपनी ऑलराउंड क्षमता की वजह से वो भारत के लिए तीनों फॉर्मेट में खेल रहे हैं। क्रिकेट में दूसरा (एक प्रकार गेंद फेेंकने की कला) से पूरी दुनिया का परिचय कराने वाले सकलैन ने कहा कि आप रिस्ट स्पिनर हैं या फिर फिंगर स्पिनर इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। खिलाड़ी का क्लास ही परमानेंट है, अपका स्किल, खेल को पढ़ने की क्षमता बहुत ज्यादा मायने रखता है। मुझे बहुत आश्चर्य है कि अश्विन को वनडे प्रारूप से दूर रखा गया है। 

सकलैन ने कहा कि पांच दिनों के खेल में उन्हें पता है कि बल्लेबाज को कैसे आउट करना है। ये सिमित ओवर के खेल के मुकाबले ज्यादा कठिन है। रन पर गति कोई भी लगा सकता है, लेकिन जो विकेट लेना जानता है वो रन पर अंकुश भी लगा सकता है। अश्विन विकेट लेना भी जानते हैं और रन पर अंकुश लगाना भी, ऐसे में आप उन्हें कैसे बाहर रख सकते हैं। आपको अपने बेस्ट खिलाड़ी को टीम में वापस लाना चाहिए। 

सकलैन ने कहा कि उन्होंने पहले भज्जी को ड्रॉप किया और अश्विन को लाए, लेकिन अश्विन के बाद उन्होंने कई स्पिनर्स को ट्राई किया, लेकिन कोई भी उनके क्लास का नहीं मिल पाया। मैं तो ये सोचकर हैरान हूं कि हरभजन जैसे कमाल के खिलाड़ी को कैसे ड्रॉप किया गया। अश्विन और भज्जी दोनों की गेंदबाजी का स्टाइल अलग-अलग है और दोनों आसानी से साथ में प्लेइंग इलेवन में खेल सकते थे। अगर टीम में दो दाएं हाथ के तेज गेंदबाज खेल सकते हैं तो दो स्पिनर क्यों नहीं खेल सकते। 

43 साल के सकलैन ने कहा कि अनिल कुंबले और हरभजन सिंह के बाद भारतीय टीम में कई शानदार स्पिनर्स आए हैं। उन्होंने कहा कि इस वक्त टीम इंडिया पाकिस्तान के मुकाबले काफी मजबूत टीम है। उन्होंने कहा कि कुलदीप यादव काफी इंप्रेसिव हैं साथ ही अश्विन और जडेजा काफी अच्छा कर रहे हैं। वहीं उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की टीम में इस वक्त अच्छे स्पिनर की कमी है। उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि अश्विन और जडेजा भारत के लिए 100 टेस्ट मैच खेलने में कामयाब होंगे।  

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस