नई दिल्ली, जेएनएन। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान और दुनिया के सुपरस्टार खिलाड़ी एबी डिविलियर्स ने संन्यास के बाद अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि वह इस समय काफी राहत महसूस कर रहा हूं। डिविलियर्स ने कहा कि इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते समय कई बार आप पर इतना दबाव होता है कि आप उसे सहन नहीं कर पाते। उन्होंने कहा कि उन्हें संन्यास लेने का बिल्कुल भी दुख नहीं है। 

डिविलियर्स ने कहा कि संन्यास के बाद वह अपने जीवन का लुत्फ उठा रहे हैं और उन्हें खेल की बिल्कुल भी कमी नहीं खल रही है। द.अफ्रीका के इस स्टार ने कहा कि इंटरनेशनल क्रिकेट में कभी कभी दर्द असहनीय हो जाता था। आपको लगातार प्रदर्शन करना होता था और फैंस हर मैच में शतक की उम्मीद करते थे। आप पर फैंस, दोस्त, देश और कोच का दबाव हमेशा होता था। एक क्रिकेटर के रूप में लगातार दबाव सहना बिल्कुल आसान नहीं होता।

एबी ने कहा कि मुझे पता है कि जब आप बड़े मैच में शतक लगाते हो और उसके बाद जो खुशी आपको मिलती है, उसकी तुलना किसी दूसरी चीज से नहीं कर सकते। उस समय हजारों लोग आपके नाम के नारे लगाते हैं लेकिन फिर भी मैं यही कहूंगा कि मुझे इसकी कमी नहीं खलेगी। खासकर अभी तक तो मुझे ऐसा नहीं लगता। मैं अपने परिवार के साथ समय बिताकर काफी खुश हूं। इंटरनेशनल क्रिकेट खेलकर मैं खुश हूं और मेरे ऊपर बिल्कुल भी दबाव नहीं है। मैं बहुत राहत महसूस कर रहा हूं। मुझे खेल छोड़ना का बिल्कुल भी मलाल नहीं है।

इस खिलाड़ी के फैंस के लिए अच्छी बात ये हैं कि वह अभी आइपीएल में आरसीबी की तरफ से खेलते रहेंगे। डिविलियर्स ने कहा कि अगर कोई खिलाड़ी लगातार क्रिकेट खेलते हुए और कई महीनों तक परिवार से दूर रहने के बाद दबाव महसूस नहीं करते तो वह झूठ बोलते हैं। डिविलियर्स ने अपने करियर में 114 टेस्ट और 228 वनडे खेले हैं। इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 50.66 की औसत से 8765 रन बनाए हैं। वहीं वनडे करियर में उन्होंने 53 से ज्यादा की औसत से 9577 रन बनाए हैं।

 क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Lakshya Sharma