मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, एएनआइ। जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा (Article 370) हटाए जाने के बाद केंद्र सरकार ने इस राज्य के दो टुकड़े कर दिए हैं। केंद्रीय गृहमंत्री के राज्यसभा में सोमवार को दिए गए भाषण के मुताबिक, जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया गया है, जिसमें एक जम्मू-कश्मीर और दूसरा लद्दाख (विधानसभा रहित) है। 

इसी बात को लेकर कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स यानी सीओए के प्रमुख विनोद राय ने मंगलवार को कहा है कि जम्मू और कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन पहले की ही तरह काम करेगा। लद्दाख के क्रिकेटर जम्मू-कश्मीर की ओर से रणजी ट्रॉफी खेलेंगे। इसके लिए अलग से स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन नहीं बनायी जाएगी। 

सीओए चीफ विनोद राय ने यह भी कहा कि अगर लद्दाख बीसीसीआइ का एक वोटिंग सदस्य बन जाता है, तो निकाय इस मामले को देखेगा और चीजों को सुलझाएगा। सरकार ने भले ही राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया है, लेकिन बीसीसीआइ का इस नई यूनियन टेरेटरी को स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन का दर्जा नहीं मिलेगा।

बता दें कि इसी साल के आखिरी महीने यानी दिसंबर में रणजी ट्रॉफी का अगला सीजन शुरू होगा, जिसमें एक टीम जम्मू-कश्मीर की भी है। बता दें कि केवल दो ही केंद्र शासित प्रदेशों को बीसीसीआइ से स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन के तौर पर अनुमति मिली है, जिसमें एक दिल्ली है और दूसरी चंडीगढ़।   

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप