नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने शुक्रवार को पुणे की एक संस्था को 1 लाख रुपये की मदद देने का फैसला लिया। 100 परिवारों के लिए बतौर डोनेशन उन्होंने यह राशि बतौर सहायता देने की घोषणा की। इस राशि को दान देने की वजह से धौनी को सोशल मीडिया पर ट्रॉल किया जाने लगा। इसके बाद पत्नी साक्षी ने एक ट्वीट कर अपनी नाराजगी जाहिर की।

साक्षी ने उन सभी लोगों के ट्वीट पर नाजराजी जाहिर की जिसमें उनके महज 1 लाख रुपए दान में दिए जाने की आलोचना की जा रही थी। साक्षी ने ट्वीट करते हुए मीडिया को भी आड़े हाथों लिया और उनसे गुजारिश करते हुए ऐसी खबरों से बचने के लिए कहा।

साक्षी ने शुक्रवार शाम को लिखा, "मैं सभी मीडिया हाउस से विनती करती हूं कि ऐसे संवेदनशील वक्त में इस तरह की झूठी खबरों को ना चलाएं। आप सबको शर्म आनी चाहिए। मुझे आश्चर्य होता है कि जिम्मेदार पत्रकारिता आखिरी कहां खो गई है।" 

धौनी ने पुणे की एक संस्था को 1 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की थी। इसके बाद कुछ लोगों ने लिखा था कि करोड़ों की संपत्ति के मालिक धोनी का महज 1 लाख रुपये की सहायता देना दुखी करने वाला है। उनके कुछ फैंस ने यह ट्वीट किया था और इसको लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी।

भारत सरकार ने कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे मामलों की वजह से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया है। इसकी वजह से रोज कमाई कर खाने वाले मजदूरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे ही 100 परिवारों के लिए पुणे की एक संस्था पैसे जुटा रही है जिसके लिए धौनी ने एक लाख की डोनेशन दी थी। 

इस संस्था को 12.50 लाख रुपये का फंड जमा करना था जिसमें पूर्व कप्तान ने मदद की थी। इसको लेकर कुछ लोगों ने उनको ट्रोल करने शुरू कर दिया की इतनी कमाई करने वाले स्टार क्रिकेटर धौनी ने महज 1 लाख का दान क्यों दिया। 

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस