नई दिल्ली, जेएनएन। साल 2018 में जब चेन्नई सुपर किंग्स की दो साल के बैन के बाद आइपीएल में वापसी हुई तब कप्तान महेंद्र सिंह धौनी पर बड़ा दवाब था। टीम पर कई आरोप लगे थे ऐसे में इस टीम के खुद को साबित करना था और ऐसा हुआ भी। इस टीम की वापसी कमाल की रही और धौनी की कप्तानी में सीएसके ने तीसरी बार आइपीएल खिताब जीता। टीम की इस जीत में यानी फाइनल मैच में शेन वॉटसन की पारी ने कमाल कर दिया था। शेन ने फाइनल में शतकीय पारी खेली थी और टीम की जीत में बड़ी भूमिका निभाई थी। 

अब शेन वॉटसन ने क्रिकेट डॉट एयू से पॉडकास्ट में बात करते हुए इस मैच को याद किया और महेंद्र सिंह धौनी के साथ वाले अपने अनुभव को साझा किया। उन्होंने कहा कि फाइनल मैच में मैंने जो शतकीय पारी खेली थी वो अपने-आप में खास थी। उन्होंने कहा कि सीएसके के कोच स्टीफन फ्लेमिंग के साथ काम करने का अपना एक अलग तरह का अनुभव था। मैंने जितने भी कोच के साथ काम किए हैं उसमें से वो सबसे बेहतरीन हैं। शेन ने कहा कि फ्लेमिंग को क्रिकेट की काफी अच्छी समझ है  और वो मानसिक तौर पर काफी सुलझे हुए हैं साथ ही उनका मैनेजमेंट भी कमाल का है। 

वहीं सीएसके टीम के कप्तान धौनी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि इस टीम के साथ 2018 में मैं पहली बार जुड़ा था और पहली बार धौनी के साथ खेलना और खासतौर पर उन्हें समझना काफी अच्छा रहा था। धौनी के बारे में मैं आपको बताउं तो यही कहूंगा कि जब आप उनके विरुद्ध खेलते हैं तो वो आपको आसानी से कुछ भी हासिल नहीं करने देते हं। वो मैदान पर आइसक्रीम की तरह से हैं। शेन वॉटसन ने कहा कि धौनी के बारे में सबकुछ जानना और उनके साथ काम करने का अनुभव शानदार रहा। क्रिकेट में जो लोग इतनी उंचाई तक पहुंचे हैं उनसे मिलना अपने-आप में बेहतरीन अनुभव रहा। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस