कोलकाता, राज्य ब्यूरो। भारत को 50 ओवर का क्रिकेट विश्वकप जिताने वाले पहले कप्तान कपिल देव ने संयुक्त अरब अमीरात और ओमान में होने वाले टी-20 विश्वकप के लिए राष्ट्रीय टीम के मेंटर के रूप में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की नियुक्ति का स्वागत करते हुए इसे 'स्पेशल केस' बताया है।

एक कार्यक्रम में शिरकत करने कोलकाता आए कपिल ने कहा-'यह एक अच्छा निर्णय है। मेरी हमेशा से यह राय रही है कि क्रिकेटर के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद तीन-चार साल बाद ही नेशनल सेटअप में वापस आना चाहिए, लेकिन टी-20 विश्वकप होने के कारण धोनी का केस स्पेशल है। रवि शास्त्री भी इस समय कोरोना संक्रमित हैं।' कपिल ने उम्मीद जताई कि टी-20 क्रिकेट में धोनी के व्यापक अनुभव से टीम को काफी मदद मिलेगी। गौरतलब है कि धोनी वर्तमान में इंडियन प्रीमियर लीग की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान हैं और अभी अपनी टीम के साथ संयुक्त अरब अमीरात में ही हैं।

बीसीसीआइ ने गत बुधवार को टी-20 विश्व कप के लिए टीम का चयन करते समय धोनी के नाम की बतौर मेंटर घोषणा की थी, हालांकि बीसीसीआइ दो बार के विश्व कप विजेता कप्तान धोनी के खिलाफ हितों के टकराव की शिकायत मिली है। शिकायत में कहा गया है कि, धोनी एक ही साथ चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान व भारतीय क्रिकेट टीम के मेंटर कैसे रह सकते हैं। हालांकि इस मामले पर बीसीसीआइ की तरफ से अभी तक कुछ कहा नहीं गया है। वैसे धोनी सिर्फ टी20 वर्ल्ड कप के लिए ही टीम इंडिया के मेंटर नियुक्त किए गए हैं। 

एम एस धोनी ने साल 2020 में ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। हालांकि वो आइपीएल में अभी भी रहे हैं और सीएसके की कप्तानी कर रहे हैं। वो यूएई में 19 सितंबर से खेले जाने वाले आइपीएल पार्ट-टू में फिर से टीम की कप्तानी करते नजर आएंगे। इस लीग के पहले हिस्से में उनकी टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया था और 7 में से पांच मैच जीतकर 10 अंक के साथ अंकतालिका में दूसरे नंबर पर थी। 

Edited By: Sanjay Savern