कराची, प्रेट्र। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिसबाह-उल-हक ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन के कारण घर तक सिमटकर रह जाना निराशाजनक हो सकता है और वह उचित सुरक्षा उपायों के साथ खाली स्टेडियमों में क्रिकेट गतिविधियां शुरू करने के पक्ष में हैं। एक रिपोर्ट सामने आ रही है जिसके मुताबिक इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड यानी ईसीबी पाकिस्तान के खिलाफ अगस्त में मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड और साउथैंपटन में खाली स्टेडियमों में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज आयोजित करने पर विचार कर रहा है।

मिस्बाह ने कहा कि वह इंटरनेशनल लेवल पर कुछ क्रिकेट गतिविधियां शुरू होना पसंद करेंगे और उन्हें खाली स्टेडियमों में खेलने से कोई दिक्कत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि इस कोरोना वायरस महामारी में यह किसी के लिए भी सही सिचुएशन नहीं है और सभी का स्वस्थ रहना निश्चित तौर पर हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए लेकिन अगर उचित सुरक्षा उपायों के साथ खाली स्टेडियमों में मैचों का आयोजन होता है तो मुझे कोई परेशानी नहीं होगी।

इस पूर्व कप्तान ने कहा कि मार्च में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) बीच में ही रद्द किए जाने के बाद पिछले दो महीने से खिलाड़ियों के पास घर में रहने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।  मिसबाह ने कहा कि हर कोई घर तक सीमित है लेकिन मुझे लगता है कि घर में रह रहे लोगों को अगर क्रिकेट देखने को मिलता है तो यह काफी अच्छा होगा। जब आपके पास करने के लिये कुछ नहीं हो और आपको ज्यादा समय कोविड 19 की खबरें सुननी पड़ रही हों तो यह निराशाजनक होता है।

उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में खेल शुरू किए जा सकते हैं और अगर क्रिकेट शुरू होता है तो लोगों को कम से कम घर में बैठकर क्रिकेट देखने को तो मिलेगा। मिस्बाह ने कहा कि सभी उचित दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए क्रिकेट को शुरू किया जाना चाहिए। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस