नई दिल्ली, जेएनएन। ऑस्ट्रेलिया के हाथों पांच मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया को मिली 3-2 से हार को क्रिकेट फैंस पचा नहीं पा रहे हैं। इस वनडे सीरीज की शुरुआत में टीम इंडिया 2-0 से आगे थी लेकिन बाद में कंगारू टीम ने कमाल की वापसी की और आखिरी तीन मैच जीतकर विराट की कप्तानी वाली टीम इंडिया को पहली बार उसके घर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में हराया। वनडे सीरीज मिली हार के पीछे टीम इंडिया के मध्यक्रम मजबूत ना होना भी एक बड़ी वजह रही। अब सोशल मीडिया पर क्रिकेट फैंस ये कह रहे हैं कि अगर धौनी टीम में होते तो कहानी कुछ और हो सकती थी।

अब ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के कप्तान माइकल क्लार्क ने भी धौनी के टीम में होने की महत्ता पर अपनी राय पेश की है। क्लार्क ने कहा कि धौनी को कभी भी हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए। उन्होंने ये बात एक क्रिकेट प्रशंसक द्वारा ट्विटर पर पूछे गए एक सवाल के जबाव में कही। उस फैन ने कहा कि इस वक्त टीम इंडिया के मध्यक्रम में युवराज सिंह जैसे खिलाड़ी की कमी है जो 2011 विश्व कप में धौनी के साथ थे। 

क्लार्क ने ट्वीट किया कि भारतीय टीम में धौनी का होना विश्व कप के लिहाज से कितना अहम है। उन्होंने कहा कि इस 37 वर्ष के खिलाड़ी को कम नहीं आंकना चाहिए। मध्यक्रम में उनका अनुभव काफी महत्वपूर्ण है। इसके अलावा उनकी विकेटकीपिंग शानदार है और वो विकेट के पीछे से भी भारतीय गेंदबाजों को राय देते रहते हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी दो वनडे मैचों में कुलदीप को धौनी की कमी काफी खली। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप