नई दिल्ली, पीटीआइ। भारतीय टीम को द. अफ्रीका के खिलाफ दो टेस्ट मैचों में लगातार हार झेलनी पड़ी हो लेकिन टीम के तेज गेंदबाजों की जमकर तारीफ की जा रही है लेकिन पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का मानना है कि भारत को तेज गेंदबाज देश के तौर पर खुद को साबित करने में अभी काफी वक्त लगेगा। काफी लंबे समय के बाद भारत के पास ईशांत शर्मा, उमेश यादव, मो. शमी, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के तौर पर पांच बेहतरीन तेज गेंदबाज हैं और ये सब द. अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम में शामिल हैं। 

अख्तर ने कहा कि टीम में इस वक्त बेहतरीन तेज गेंदबाज हैं और भारत के पास कभी भी इस तरह की गेंदबाजी अटैक नहीं रही। वैसे मैं ये कहना चाहता हूं कि भारत में तेज गेंदबाज सामने आ रहे हैं लेकिन वो एक तेज गेंदबाज देश हैं इसके लिए अभी उन्हें लंबी दूरी तय करनी है। पांच साल पहले मैं सोचता था कि वरुण एरोन, उमेश यादव और मो. शमी भारत को विदेशी दौरे पर गेंदबाजी में लीड करेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। वरुण एरोन के साथ फिटनेस की समस्या है। उमेश कुछ जगहों पर अच्छी गेंदबाजी करते हैं लेकिन कई बार फेल हो जाते हैं वो बहाव रियाज की तरह हैं। हालांकि मौजूदा भारतीय तेज गेंदबाजों का प्रदर्शन एक अच्छा संकेत है। रावलपिंडी एक्सप्रेस ने कहा कि भारतीय टीम हमेशा अच्छे बल्लेबाजों के लिए जानी जाती रही है लेकिन अब भारत में अच्छे तेज गेंदबाज सामने आ रहे हैं लेकिन अभी उन्हें लंबी दूरी तय करनी है। अख्तर अगले महीने स्वीटजरलैंड में आइस क्रिकेट में हिस्सा लेते दिखेंगे। 

द. अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन और सेंचुरियन में भारतीय तेज गेंदबाजों ने 40 में से 30 विकेट लिए थे। कप्तान विराट ने भी कहा था कि गेंदबाजों ने अपना काम बखूबी किया लेकिन बल्लेबाजों की वजह से हमने मैच गवांए। अख्तर ने कहा कि मैच के नतीज चौंकाने वाले रहे। मैंने दोनों टेस्ट मैच देखे और ये कहना मुश्किल था कि भारत की हार तय है वो टेस्ट की बेस्ट टीम है। हां, उन्होंने अच्छा नहीं खेला। टीम के बल्लेबाजों को अपने प्रदर्शन को और बेहतर करना चाहिए थे। हालांकि भारत की हार की वजह टीम का गलत संयोजन भी हो सकता है। टीम के गेंदबाजों ने सही वक्त पर विकेट नहीं लिए साथ ही बल्लेबाजों ने रन नहीं बनाए। मैं हार्दिक पांड्या से काफी प्रभावित हूं। टीम के बल्लेबाजों ने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की हालांकि पिच पर बल्लेबाजी करना उतना भी मुश्किल नहीं था। 

अख्तर ने कहा कि रोहित कमाल के खिलाड़ी हैं लेकिन आपके प्रदर्शन को ही देखा जाता है। वो काफी टैलेंटेड हैं और मैं उनमें इंजमाम उल हक की झलक देखता हूं। दो टेस्ट मैच में वो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके ये दूर्भाग्यपूर्ण रहा। हालांकि रहाणे को अंतिम ग्यारह में शामिल नहीं किए जाने का फैसला काफी चौंकाने वाला रहा क्योंकि वो तकनीकी तौर पर भारत के सबसे मजबूत बल्लेबाज हैं। 

 क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस