नई दिल्ली, प्रेट्र। भारतीय लेग स्पिनर कुलदीप यादव आइपीएल में अच्छा प्रदर्शन करके टी-20 विश्व कप टीम में जगह बनाना चाहते हैं। एक साल पहले तक कुलदीप विदेशी सरजमीं पर भारत के शीर्ष स्पिनर थे, लेकिन इसके बाद उनकी फॉर्म खराब हो गई और वह टीम से अंदर-बाहर होते रहे।

कुलदीप और युजवेंद्रा सिंह चहल भारत के दो कलाई के स्पिनर हैं, लेकिन रवींद्र जडेजा के सीमित ओवरों के क्रिकेट में लौटने के बाद से एक मैच में दोनों का एक साथ खेलना कम ही हुआ है। कुलदीप ने कहा कि यह सब टीम प्रबंधन के ऊपर निर्भर है कि वे किस टीम संयोजन के साथ उतरना चाहते हैं। हमारी टीम काफी मजबूत है और हम बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे। जहां तक कलाई के स्पिनरों की बात है तो यह सब टीम प्रबंधन फैसला करता है। अगर वे दो खिलाडि़यों को खेलना चाहते हैं, जो कि अच्छी बल्लेबाजी और गेंदबाजी करने की स्थिति में हो तो यह टीम के लिए हमेशा अच्छी बात होती है। इसलिए अगर हम एक साथ खेलते हैं तो यह अच्छा होगा।

कुलदीप ने आगे कहा कि जडेजा एक बल्लेबाज, गेंदबाज और फील्डर के रूप में अच्छा कर रहे हैं। उनके होने से टीम संयोजन को मजबूती मिलती है। वह बल्लेबाजी में ज्यादा गहराई देते हैं, लेकिन जब भी मुझे और चहल को मौका मिलता है तो हम अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करते हैं। कुलदीप को 12 मार्च से दक्षिण अफ्रीका के साथ होने वाली वनडे सीरीज में भारतीय टीम में जगह मिलने की उम्मीद है। इसके बाद फिर आइपीएल है, जहां कुलदीप अच्छा करना चाहेंगे, ताकि टी-20 विश्व कप के लिए उनके नाम पर विचार हो सके। उन्होंने कहा कि आइपीएल एक ऐसा मंच है, जहां आपको हमेशा सतर्क रहना पड़ता है। अब मैं इस टूर्नामेंट के लिए पूरी तरह से तैयार हूं। अब मेरा पूरा ध्यान इस पर है।

कुलदीप को लगता है कि लोकेश राहुल और रिषभ पंत विकेट के पीछे अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन टीम को अनुभवी महेंद्र सिह धौनी की कमी खल रही है। उन्होंने कहा कि माही भाई (धौनी) अपने साथ काफी अनुभव लेकर आए हैं और उन्होंने भारतीय टीम को काफी कुछ दिया है। इसलिए जब उनके जैसा कोई खिलाड़ी नहीं खेलता है तो उनकी कमी खलती है। वे (पंत और राहुल) काफी अच्छा कर रहे हैं और उनमें ज्यादा असमानता नहीं है।

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस