नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव ने भारत के ऑस्ट्रेलिया के दौरे को लेकर बयान दिया है। भारत को कंगारू सरजमीं पर तीन वनडे, तीन टी20 और चार टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी हैं। कपिल देव को भारतीय तेज गेंदबाजों से उम्मीद है कि वे वहां अच्छा प्रदर्शन करेंगे, लेकिन वह बल्लेबाजों को लेकर थोड़े चिंतित हैं। कपिल का मानना है कि बल्लेबाज ऑस्ट्रेलियाई तेज आक्रमण के सामने थोड़े असहज नजर आ सकते हैं।

उन्होंने एक समिट में कहा, "हमें यकीन नहीं है कि हमारे बल्लेबाज 400 रन बनाएंगे। यदि वे संघर्ष नहीं करते हैं, तो हमें कोई समस्या नहीं होगी।" कपिल देव ने कहा कि भारतीय गेंदबाज बल्लेबाजों की तुलना में अधिक प्रभावशाली रहेंगे। उन्होंने कहा कि भारत के पास कुछ अच्छे स्पिनर हैं, लेकिन वे तब तक बहुत कुछ हासिल नहीं कर सकते जब तक कि उन्हें तेज गेंदबाजों का समर्थन नहीं मिलता। ऐसा क्रिकेट में अक्सर होता है।

कपिल देव इस बात से खुश हैं कि महान बल्लेबाज ब्रायन लारा ने कहा था कि वे जवागल श्रीनाथ और जहीर खान को खेलना पसंद करेंगे, लेकिन जसप्रीत बुमराह को खेलने से बचेंगे। वहीं, कपिल देव ने बताया कि कभी-कभी बुमराह अपने शरीर पर बहुत अधिक दबाव डालते हैं, जब उन्हें लगातार टेस्ट मैचों में हर दिन 20 ओवर फेंकने होते हैं। कपिल देव ने युवा गेंदबाजों से अपील की है कि वे स्विंग पर ध्यान दें।

साल 1983 में देश को विश्व कप जिताने वाले कप्तान ने कहा है, "खिलाड़ियों को स्विंग पर ध्यान देना चाहिए। संदीप शर्मा ने आइपीएल में120 किलोमीटर की गति से गेंदबाजी, लेकिन उनकी गेंद झूल रही थी, जिससे वे अधिक प्रभावी थे, लेकिन युवा गेंदबाज इस कला से दूर भाग रहे हैं।" कपिल देव ने अपनी प्रभावशाली गेंदबाजी के लिए टी नटराजन की भी प्रशंसा की। नटराजन ने इस सीजन में विशेषकर अपनी यॉर्कर्स से सभी को प्रभावित किया था।

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस