नई दिल्ली, पीटीआइ। इस वक्त पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से फैले संक्रमण का कहर है। इसी की वजह से आईसीसी क्रिकेट कमेटी ने गेंदबाजों के गेंद को चमकाने के लिए लार के इस्तेमाल पर रोक लगाने की सिफारिश की है। इस फैसले के बाद से तमाम गेंदबाज और खिलाड़ी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। पूर्व भारतीय ऑलराउंडर इरफान पठान ने भी इसको लेकर अपनी बात कही है।

इरफान ने आईसीसी के गुजारिश की है कि गेंद को चमकाने के लिए लार का इस्तेमाल बंद करने के बाद गेंदबाजों की मददगार सतह बनाई जाए। पीटीआइ से बात करते हुए उन्होंने कहा, "आपको इस बात को तय करना होगा कि ऐसा पिच तैयार की जाए जो बल्लेबाजों से ज्यादा गेंदबाजों के लिए मददगार हो ताकि बल्लेबाज गेंद को लार से ना चमकाने का ज्यादा फायदा ना उठा सके। अगर आप गेंद को लार से सही तरीके से नहीं चमका पाएंगे तो आप हवा में गेंद को काट नहीं पाएंगे। वैज्ञानिक वजह यही है।"

"अगर आफ गेंद को स्विंग नहीं करवा पाएंगे तो बल्लेबाजों के लिए इसे खेलना कहीं ज्यादा आसान हो जाएगा उनके अंदर सिर्फ तेज रफ्तार का ही डर रह जाएगा। रफ्तार और स्विंग दोनों जब साथ मिलते तभी बल्लेबाजों के लिए मुश्किल पैदा होती है।"

पठान ने बताया कि आईसीसी के फैसले से टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाजी पर काफी फर्क पड़ेगा। उन्होंने कहा, "यह प्रतिबंध गेंदबाजों को टेस्ट क्रिकेट में काफी प्रभावित करेगी। लिमिटेड ओवर फॉर्मेट में इसका ज्यादा असर नहीं पड़ने वाला है क्योंकि वैसे भी गेंदबाज शुरुआत के कुछ ओवरों में गेंद को चमकाने की कोशिश नहीं करते। वह इसे मुलायम होने देना चाहते हैं जिससे कि बल्लेबाजों के लिए शॉट्स लगाने कठिन हो जाए।"

"लेकिन टेस्ट क्रिकेट में चाहे आप तेज गेंदबाज हों या फिर स्पिनर, आप गेंद को चमकाना चाहते हैं। स्पिनरों के ड्रिफ्ट के लिए चमक की जरूरत होती है। इससे बल्लेबाजों को काफी बड़ा फायदा मिलने वाला है। अब खेल और भी ज्यादा बल्लेबाजों की मददगार हो जाएगी।"

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस