मुंबई, प्रेट्र। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा के इस नजरिए का समर्थन किया है कि युवा तिलक वर्मा भारत के लिए सभी प्रारूपों में खेलने वाले बल्लेबाज बन सकते हैं। इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र में उभरकर आने वाले खिलाड़ियों में शामिल वर्मा ने मुंबई इंडियंस के निराशाजनक प्रदर्शन के दौरान 12 मैच में 368 रन बनाकर प्रभावित किया है।

गावस्कर ने ‘स्टार स्पोर्ट्स’ पर कहा कि तिलक वर्मा की मानसिकता गजब की है। चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ वह उस समय क्रीज पर उतरा जब टीम दबाव में थी लेकिन शुरुआत में उसने जिस तरह एक और दो रन लेकर पारी को आगे बढ़ाया वह प्रभावशाली था। उन्होंने कहा कि उसके पास कई तरह से शाट्स हैं और वह स्ट्राइक रोटेट करता रहता है। यह दर्शाता है कि उसे क्रिकेट की अच्छी समझ है और मुझे लगता है कि यह महत्वपूर्ण है।

इस महान सलामी बल्लेबाज ने कहा कि अगर आपके पास अच्छा क्रिकेट दिमाग होता है तो आप उस समय मुश्किल से बाहर निकलने में सफल रहते हो जब चीजें आपके पक्ष में नहीं हो रही होती। आप अपने खेल का विश्लेषण कर सकते हो और दोबारा रन बना सकते हो।  गावस्कर ने अपने बेसिक्स सही रखने के लिए भी इस युवा की सराहना की और वह रोहित के इस नजरिए से सहमत हैं कि हैदराबाद का यह उभरता हुआ क्रिकेटर भविष्य में भारत के लिए सभी प्रारूप में खेलने वाला बल्लेबाज बन सकता है।

उन्होंने कहा कि रोहित शर्मा ने सही कहा है कि वह भारत के लिए सभी प्रारूपों में खेलने वाला खिलाड़ी बन सकता है। इसलिए यह अब उस पर निर्भर करता है कि वह थोड़ा अधिक मेहनत करे, अपनी फिटनेस सही करे, तकनीक को बेहतर करे और रोहित को सही साबित करे। गावस्कर ने कहा कि वह बेसिक्स सही रखता है। उसकी तकनीक सही है। वह गेंद के पीछे आकर खेलता है। वह सीधे बल्ले से खेलता है और फ्रंट फुट पर रक्षात्मक शाट खेलते हुए उसका बल्ला पैड के पास होता है। उसके सभी बेसिक्स सही हैं औक सही बेसिक्स के साथ आपको सही मानसिकता की जरूरत होती है और हमने देखा है कि ये दोनों चीजें अभी काफी अच्छी हैं। 

Edited By: Sanjay Savern