नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन के शुरुआत से ही स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन सुर्खियों में हैं। दरअसल जैसे ही उन्हें आइपीएल आक्शन में राजस्थान रायल्स की टीम में चुना गया वो ट्रेंड करने लगे क्योंकि जोस बटलर के साथ उनका "मांकड" विवाद सुर्खियों में रहा था। लेकिन जैसे-जैसे लीग आगे बढ़ी अश्विन ने अपने बल्ले और गेंद से कमाल दिखाना शुरू कर दिया।

चेन्नई के खिलाफ आखिरी लीग मैच में जब टीम को उनकी सबसे ज्यादा जरुरत थी तो एकबार फिर से उन्होंने अपनी टीम के लिए मैच जिताऊ पारी खेली। उन्होंने चेन्नई के खिलाफ मैच में न केवल 1 विकेट लिया बल्कि लक्ष्य का पीछा करते हुए 23 गेंदों पर 40 रन की तेज-तर्रार पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई। इस जीत ने टीम को न केवल प्लेआफ में पहुंचाया बल्कि प्वाइंट्स टेबल के टाप दो में भी स्थान पक्का करा दिया जिसका मतलब है कि टीम को फाइनल में पहुंचने के दो मौके मिलेंगे।

अश्विन के इस आलराउंड प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद कैफ ने उनकी जमकर प्रशंसा की है। कैफ ने ट्विटर के माध्यम से उन्हें तेज गेंदबाजी करने की सलाह दे डाली। उन्होंने लिखा है कि डियर अश्विन क्रिकेट में कोई ऐसी चीज है जिसे आप नहीं कर सकते हैं? मास्टर स्पिनर, इंपैक्ट बैट्समैन, समय आ गया है कि आप 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी शुरू करें। आप एक चैंपियन आलराउंडर हैं।

इस आइपीएल में यह पहली बार नहीं था कि उन्होंने गेंद और बल्ले के साथ कमाल दिखाई हो। उन्होंने दिल्ली के खिलाफ मैच में अपने आइपीएल करियर का पहला अर्धशतक भी लगाया था। हालांकि टीम को उस मैच में हार का सामना करना पड़ा था।

गेंद और बल्ले से अश्विन का आलराउंड प्रदर्शन

इस सीजन अश्विन ने गेंद और बल्ले दोनों से अपनी टीम के लिए योगदान किया है। उन्होंने इस सीजन 30.5 की औसत और 146.4 की स्ट्राइक रेट से 183 रन बनाए है जिसमें एक अर्धशतकीय पारी शामिल है। इसके अलावा गेंदबाजी की बात करें तो उन्होंने 7.14 की बेहतरीन इकोनामी से गेंदबाजी करते हुए 11 विकेट झटके हैं।

24 मई को राजस्थान की टीम पहले क्वालिफायर में गुजरात से भिड़ेगी। वहां अश्विन के पास अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी को दिखाने एक और मौका होगा।

Edited By: Sameer Thakur