मुंबई, एएनआइ। राजस्थान रॉयल्स (RR) के क्रिकेट डायरेक्टर कुमार संगकारा ने पंजाब किंग्स (PBKS) के खिलाफ मैच की आखिरी गेंद पर क्रिस मौरिस को स्ट्राइक न देने के कप्तान संजू सैमसन के फैसले का बचाव किया है। मैच खत्म होने के बाद उन्होंने कहा कि कप्तान संजू सैमसन ने मैच खत्म करने के लिए खुद पर भरोसा जताया और और उन्हें जिम्मेदारी लेते देखना काफी अच्छा। बता दें कि मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में सोमवार को पंजाब किंग्स के 222 रनों के विशालकाय लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन (119) अपनी टीम को 19.4 ओवर में 217 रनों तक ले आए। टीम को आखिरी दो गेंदों पर पांच रनों की जरूरत थी। उनके साथ दूसरी छोर पर आइपीएल नीलामी के इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी (16.25 करोड़ रुपये) क्रिस मौरिस थे।

अर्शदीप ने मैच के आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद फेंकी, संजू ने उसे लांग ऑफ की तरफ खेल दिया। मौरिस बल्लेबाजी छोर तक पहुंच गए लेकिन संजू ने रन नहीं लिया। वह अपने पास ही स्ट्राइक रखना चाहते थे। अब राजस्थान को एक गेंद पर पांच रन की जरूरत थी। अगर संजू एक रन ले लेते तो राजस्थान चौका मारकर भी जीत सकता था, लेकिन कप्तान ने खुद पर भरोसा जताया।आइपीएल के शातिर गेंदबाजों में पहचान बनाने वाले अर्शदीप ने आखिरी गेंद ऑफ स्टंप से बाहर की ओर कटर डाली। संजू ने कवर के ऊपर से छक्का मारने की कोशिश की लेनिक दीपक हुड्डा ने उनका कैच लपक लिया और पंजाब ने चार रन से रोमांचक जीत दर्ज की।

इसके बाद संजू सैमसन का बचाव करते हुए संगकारा ने कहा, 'संजू ने मैच खत्म करने की जिम्मेदारी खुद के कंधों पर ली और उन्होंने लगभग मैच खत्म कर दिया था। वह आखिरी गेंद पर छक्का मारने के लिए सिर्फ पांच या छह गज से चूक गए। कभी-कभी जब आपको पता होता है कि आप गेंद को इतनी अच्छी तरह से मार रहे हैं और आप फॉर्म में हैं, तो आपको मैच खत्म करने की जिम्मेदारी लेनी होगी। संजू को ऐसा करते देखना उत्साहजनक था। हमेशा छोटी-मोटी चूक के बारे में बात होती, लेकिन मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण बात खिलाड़ियों का विश्वास, दृष्टिकोण और समर्पण है। संजू ने इस मैच को खत्म करने की जिम्मेदारी खुद पर ली और वह कुछ रनों से चूक गए। लेकिन मुझे विश्वास है कि अगली बार जब ऐसा होगा तो वे बाउंड्री लाइन से 10 गज आगे गेंद को मारेंगे और हमें मैच जीताएंगे।'

Edited By: Tanisk