नई दिल्ली, जेएनएन। किंग्स इलेवन पंजाब के विस्फोटक ओपनर क्रिस गेल ने आखिरकार इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में पहला मैच खेला। 7 मैच में टीम से बाहर बैठने के बाद टीम मैनेजमेंट ने गेल को उनकी पुरानी टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ उतारा। गेल ने ओपनिंग नहीं बल्कि मिडिल आर्डर बल्लेबाज के तौर पर मैच खेला और शानदार अर्धशतक बनाते हुए टीम को जीत तक पहुंचाया।

क्रिस गेल ने लंबे इंतजार के बाद आखिरकार टूर्नामेंट में पहला मैच खेला। पहले ही मुकाबले में उन्होंने मैच जिताउ पारी खेली। 45 गेंद का सामना करने वाले इस बल्लेबाज ने 5 छक्के और 1 चौका लगाते हुए 53 रन बनाए। मैच खत्म होने के बाद गेल ने बयान में कहा कि वह यूनिवर्स के बॉस हैं और उनको किसी भी चीज से डर नहीं लगता।

मैं कभी नर्वस नहीं होता हूं

गेल ने कहा, "बिल्कुल भी नहीं, क्या बात करते हो यार, यूनिवर्स के बॉस बल्लेबाजी कर रहे थे, मैं नर्वस कैसे हो सकता हूं। हां मैं आपको हार्ट अटैक जरूर दे सकता हूं। मुझे लगात है कि यह मेरे पास है लेकिन क्रिकेट में कई विचित्र चीजों होती रहती है। आइपीएल में पहला मैच था और यह एक अच्छी पारी रही। अब तो मैं अपने आप को 2021 के लिए भी उपलब्ध करवा सकता हूं। अब मैं बबस से बाहर निकलकर जा सकता हूं।"

टीम के लिए मुश्किल खड़ी नहीं करना चाहता

"यह वाकई काफी चिपचिपा था और मुझे ऐसा लगता है कि दूसरी पारी में थोड़ा सा बेहतर था। पहली पारी में तो बल्लेबाजी करना काफी मुश्किल था और हमें तो पिच का काफी अच्छा हिस्सा मिला। टीम ने मुझे यह काम करने के लिए बोला था और मैं टीम के लिए परेशानी खड़ी करना नहीं चाहता था।"

मैं बेंच पर बैठना पसंद नहीं करता

"मयंक और कप्तान ने मुझे काफी अच्छी शुरुआत दी थी, टीम के लिए जीत हासिल करना ज्यादा जरूरी था। मुझे लगता है कि आपका फिट होना सबसे अहम होता है। मुझे बेंच पर बैठे रहना बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता लेकिन फिर भी मैं इसका मजा उठा रहा था। मेरी बीमारी के अलावा बाकी समय में काफी ज्यादा फिट रहा हूं।"

 

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021