नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग में अब तक तीन बार टाइटल जीत चुकी चेन्नई सुपर किंग्स को लेकर क्रिकेट एक्सपर्ट की जो राय इस बार सामने आ रही है वो निराश करने वाली है। आकाश चोपड़ा ने कहा था कि पहले मैच में मुंबई का पलड़ा सीएसके के खिलाफ भारी रहेगा तो वहीं अब टीम इंडिया के पू्र्व ओपनर बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने इस टीम की एक बड़ी कमी के बारे में बताया है और कहा कि, इसकी वजह से सीएसके को चौथी बार चैंपियन बनने में परेशानी हो सकती है। 

सुनील गावस्कर का मानना है कि टीम में युवा खिलाड़ियों की कमी की वजह से इनके टाइटल जीतने की उम्मीदों पर पानी फिर सकता है। गावस्कर ने कहा कि किसी भी अच्छी आइपीएल टीम में युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का मिश्रण है, लेकिन सीएसके की टीम में क्या इस तरह के युवा खिलाड़ी हैं जो टीम की एनर्जी को अपलिफ्ट कर सकें। ये एक बड़ा सवाल है जिसे चेन्नई सुपर किंग्स फेस करेगी। सीएसके अपनी इस कमी की वजह से इस सीजन में चैंपियन बनने के लिए बहुत संघर्ष करेगी। 

इसके अलावा सीएसके के चैंपियन बनने के चांस की बात करते हुए उन्होंने कहा कि सुरेश रैना और हरभजन सिंह जैसे शानदार खिलाड़ियों के टीम में नहीं होने की उन्हें कीमत चुुकानी होगी। उन्होंने कहा कि टीम को उनकी कमी खलेगी और इस गैप को भरना या उन्हें रिप्लेस करना आसान नहीं होगा। हालांकि इनके नहीं होने की वजह से कुछ खिलाड़ियों को मौका मिल सकता है। 

आपको बता दें कि सीएसके की सबसे बड़ी ताकत है कि इस टीम में काफी अनुभवी खिलाड़ी हैं और ज्यादातर की उम्र 30 साल से ज्यादा है। टीम के कप्तान MS Dhoni खुद 39 साल के हैं। इस हालात में धौनी के लिए टीम की अगुआई करना और उनसे बेस्ट निकलवाने में परेशानी हो सकती है। गावस्कर ने कहा कि इस बार सीएसके को मुरली विजय से ओपन करवाना चाहिए तो वहीं अंबाती रायुडू व एम एस को नंबर तीन व चार पर बल्लेबाजी करनी चाहिए। गावस्कर ने धौनी के टेंपरामेंट की तारीफ की और कहा कि इस दल में कुछ ऐसे खिलाड़ी हैं जो रैना की जगह ले सकते हैं और टीम के लिए सौ फीसदी दे सकते हैं। सीएसके को आइपीएल के 13वें सीजन का पहला मैच 19 सितंबर को मुंबई के खिलाफ खेलना है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस