नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय सीनियर सेलेक्शन कमेटी हार्दिक पांड्या को टी20 कप्तान के रूप में आगे भी मौके देने के मूड में पूरी तरह से दिख रही है। इसका कारण रोहित शर्मा के वर्कलोड को मैनेज करना है जो इस समय टीम इंडिया के लिए तीनों फार्मेट में कप्तानी कर रहे हैं। भारतीय चयनकर्ता हार्दिक पांड्या की नेतृत्व क्षमता से काफी प्रभावित हैं और जब भी संभव होगा वो भविष्य में टी20 क्रिकेट टीम का नेतृत्व करेंगे। 

भारतीय क्रिकेट टीम के चयन समिति के एक सदस्य ने इनसाइड स्पोर्ट्स से बात करते हुए कहा कि रोहित शर्मा को जल्द रिप्लेस करने का सवाल ही नहीं है, लेकिन साथ ही उनके काम के बोझ को मैनेज करना भी जरूरी है। हां, हार्दिक पांड्या हमारी प्लान का हिस्सा हैं क्योंकि भविष्य में कई छोटे दौरे होने हैं, लेकिन वो इस समय टेस्ट की योजनाओं में शामिल नहीं हैं। यानी इससे साफ हो जाता है कि भविष्य में होने वाले छोटे दौरों पर रोहित शर्मा की जगह हार्दिक पांड्या को टी20 टीम का कप्तान बनाया जा सकता है। 

हार्दिक पांड्या को कप्तानी के विकल्प के रूप में इस वजह से देखा जा रहा है क्योंकि केएल राहुल चोटिल हैं और रिषभ पंत टेस्ट टीम के भी अहम खिलाड़ी हैं और वो कार्यभार को प्रबंधित करने के लिए छोटी द्विपक्षीय सीरीज के लिए कई बार उपलब्ध नहीं होंगे। वैसे ये दोनों खिलाड़ी भी कप्तानी के लिए विकल्प हैं, लेकिन चयन समिति के सदस्य ने कहा कि ये सच है कि हमारे पास कप्तानी के कई विकल्प हैं लेकिन उन्हें भी तैयार करने की जरूरत है। रोहित का कार्यभार निश्चित रूप से एक प्राथमिकता है लेकिन साथ ही, बड़े टूर्नामेंटों में, हमें एक बल्लेबाज और नेता के रूप में उनकी विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है। जहां तक चोटों का सवाल है, वह अपना ख्याल रखना जानते हैं। 

आपको बता दें कि वीरेंद्र सहवाग ने भी पीटीआइ से बात करते हुए टी20 फार्मेट में अलग कप्तान बनाने की बात कही थी। सहवाग ने अपने इंटरव्यू में कहा था कि अगर भारतीय टीम प्रबंधन के मन में टी20 प्रारूप में कप्तान के रूप में कोई और होता है तो मुझे लगता है कि रोहित शर्मा को राहत दी जा सकती है और आगे चलकर इन बातों पर ध्यान दिया जा सकता है।

Edited By: Sanjay Savern