मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

 नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बेहद कम वक्त में दुनिया में अपना धाक जमाने में कामयाब रहे हैं। क्रिकेट के हर प्रारूप में भारतीय गेंदबाजी की जान बन चुके बुमराह की गेंदबाजी मे काफी विविधता है लेकिन वो अपने सटीक यार्कर के लिए सबसे ज्यादा जाने जाते हैं। डेथ ओवर्स में बुमराह अपने सटीक यार्कर के जरिए बल्लेबाजों पर लगाम लगाए रखते हैं और उन्हें खुलकर रन नहीं लेने देते साथ ही टीम के लिए विकेट भी निकालते हैं। 

जसप्रीत बुमराह इतना सटीक यार्कर कैसे डालते हैं इससे पीछे भी एक कहानी है जिसका खुलासा उन्होंने खुद किया। बुमराह ने अपना ये हुनर काफी मेहनत के बाद हासिल किया। उन्होंने बताया कि सटीक यार्कर डालने का ये हुनर उन्होंने टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलते वक्त सीखा। 25 वर्ष के इस बेहद टैलेंटेड गेंदबाजी ने कहा कि मैंने अपने बचपन मं टेनिस बॉल के क्रिकेट खेलता था। इस गेंद से आप एक ही तरह की गेंदबाजी कर सकते हैं। यहां कोई बाउंसर नहीं होती और गेंदबाजी के दौरान लंबाई मायने रखती है। आपको पास एक ही गेंद होता है जिस पर आपको प्रैक्टिस करनी है। उस वक्त मैं सिर्फ मनोरंजन के लिए खेलता था लेकिन बाद में जब आप सीरियस होकर क्रिकेट खेलना शुरू करते हैं तो आपको इस वक्त की गई गेंदबाजी और उस अभ्यास का महत्व पता चलता है। 

यार्कर के बारे में बुमराह ने कहा कि ये मुझे स्वाभाविक रूप से नहीं आता और मुझे इसका अभ्यास करना पड़ता है। मैच के दौरान सही यार्कर फेंकने के लिए मुझे काफी मेहनत करनी पड़ी है। अब मैं अपनी गेंदबाजी को सही करने के लिए सभी छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देता हूं। अब क्रिकेट में तीन अलग-अलग प्रारूपों में खेलना पड़ता है जहां गेंदबाजी करना एक दूसरे से काफी अलग है। तीन प्रारूपों के साथ तालमेल बिठाकर उसके हिसाब से गेंदबाजी करने के लिए लगातार काम करने की जरूरत होती है। बुमराह अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज में टीम इंडिया में वापसी करेंगे। उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद आराम दिया गया था। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप