नई दिल्ली, जेएनएन। India vs West Indies Test Series: टीम इंडिया और मेजबान वेस्टइंडीज के बीच एंटीगा में दो मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मैच खेला जा रहा है। इस टेस्ट मैच के दो दिन का खेल समाप्त हो गया है। काफी समय के बाद टेस्ट मैच खेलने उतरे टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पर मैच के पहले दिन तक सवालों की बौछार हो रही थी। 

कप्तान विराट कोहली को क्रिकेट के दिग्गज दो सवालों को लेकर ज्यादा घेर रहे थे। उन सवालों में से एक सवाल था कि रोहित शर्मा को प्लेइंग इलेवन में क्यों शामिल नहीं किया गया और अनुभवी ऑफ स्पिनर आर अश्विन की जगह ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा को क्यों मौका दिया गया। इन दो सवालों में से एक सवाल का जवाब टेस्ट मैच के दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक मिल गया। 

टीम इंडिया की ओर से 58 रन की पारी खेलने के बाद एक विकेट चटकाने वाले रवींद्र जडेजा ने ये साबित कर दिया कि उनको प्लेइंग इलेवन में शामिल करके कप्तान विराट कोहली ने सही फैसला किया है। दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने कहा है कि उन्होंने अच्छा प्रदर्शन करके कप्तान विराट कोहली का भरोसे जीता है। 

रवींद्र जडेजा ने कहा, "जाहिर तौर पर तब अच्छा महसूस होता है कि कप्तान आपको मुख्य खिलाड़ी समझे और आप अच्छा प्रदर्शन करें। सौभाग्यवश मैंने अच्छा प्रदर्शन करके कप्तान के भरोसे पर खरा उतरने की कोशिश की है।" बता दें कि रवींद्र जडेजा उस समय बल्लेबाजी करने उतरे थे, जब टीम इंडिया का स्कोर 6 विकेट पर 189 रन था। इसके बाद जडेजा ने पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ टीम के लिए बेसकीमती रन जोड़े।

इस बारे में जडेजा ने कहा, "जब मैं बल्लेबाजी करने मैदान पर गया था तो मैं एक पार्टनरशिप बनाने की ओर देख रहा था। मैं इस बात पर ध्यान दे रहा था कि पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ कैसे रन बनाए जाएं। मैं अपने खेल को लेकर चिंतित था। मैं अपना बेस्ट देने की कोशिश में था।" बता दें कि जडेजा ने इशांत शर्मा के साथ अच्छी साझेदारी की और फिर स्कोर को 300 के पार ले जाने में सफलता हासिल की।  

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप