नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को 'टीम मैन' कहा जाता है। कोहली हमेशा ही टीम के हक में फैसले लेने के लिए जाने जाते हैं। इसकी वजह से उनको कई बार आलोचना का सामना भी करना पड़ता है। कोहली ने पुणे में साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में टॉस के दौरान बताया कि कैसे उनपर इस मैच में टॉस जीतने का दबाव बनाया गया था।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। आज विराट बतौर कप्तान अपना 50वां टेस्ट मैच खेल रहे हैं। इस मैच में विराट ने पिच के मुताबिक प्लेइंग इलेवन में एक बदलाव करने का फैसला लिया है। उन्होंने टॉस के वक्त बताया कि तेज गेंदबाजी का विकल्प बढ़ाने के लिए उमेश यादव को हनुमा विहारी की जगह टीम में शामिल किया गया है।

विराट पर खिलाड़ियों ने बनाया दबाव

कोहली बतौर कप्तान जब अपने 50वें मैच में टॉस के लिए जा रहे थे तो उनको टीम के सभी खिलाड़ियों ने टॉस जीतकर आने का दबाव बनाया था। कोहली ने टॉस के दौरान बात करते हुए इस बात का खुलासा किया। कोहली ने कहा, हम यहां पर पहले बल्लेबाजी करना पसंद करेंगे। पिच सख्त नजर आ रही है और हल्की घास भी है तो तेज गेंदबाजी में एक विकल्प बढ़ान के लिए हनुमा विहारी की जगह उमेश यादव को टीम में जगह दी गई है। आज इस टॉस को जीतने के लिए मेरे उपर सभी खिलाड़ियों ने दबाव बनाया था।  

साउथ अफ्रीका का प्लेइंग इलेवन

डीन एल्गर, एडेन मार्करम, थ्युनिस डिब्रून, फाफ डुप्लेसिस (कप्तान), तेंबा बावुमा, क्विंटन डिकॉक (विकेटकीपर), केशव महाराज, सेनुरन मुथुसामी, वर्नोन फिलेंडर, एनरिक नॉर्तेजे और कैगिसो रबादा।

भारत का प्लेइंग इलेवन

मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, रवींद्र जडेजा, रिद्धिमान साहा, आर अश्विन, इशांत शर्मा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी

 

Posted By: Viplove Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप