नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी मुकाबले की शुरुआत गुरवार 4 मार्च को हुई। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम भारतीय स्पिनर के आगे महज 205 रन ही बनाई। 8 विकेट स्पिनर ने झटके लेकिन दो विकेट तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने भी हासिल किए। पूर्व इंग्लिश स्पिनर ग्रीम स्वान इस भारतीय तेज गेंदबाज के मुरीद हो गए और उनको सलामी दी।

स्वान ने कहा, "जब इंग्लैंड की टीम ने टॉस जीता तो मैंने सोचा थी कि यह विकेट थोड़ा बहुत हरकत करेगी क्योंकि मैदान पर कुछ नमी थी। उम्मीद नहीं की थी कि सिराज इतना फायदा उठा लेंगे जितना ज्यादा उन्होंने उठाया। मैंने तो सोचा था कि इशांत शर्मा जो कि सीनियर गेंदबाज हैं वो इंग्लैंड को नुकसान पहुंचाएंगे लेकिन सिराज तो कमाल के निकले।"

इंग्लैंड के कप्तान का विकेट लेने के लिए सिराज ने जिस तरह से रणनीति बाकर गेंदबाजी की इसकी भी तारीफ की। "उन्होंने शानदार रफ्तार के साथ गेंदबाजी की और जिस तरह से उन्होंने कुछ बाहर जाती गेंद से ऑफ स्टंप के आस पास गेंद को रखते हुए जो रूट का विकेट बनाया। ड्रिंक के एकदम बाद ही उन्होंने अंदर आती गेंद पर उनको विकेट के आगे फंसाया।"

सिराज ने दूसरे सत्र में जॉनी बेयरस्टो का अहम विकेट भी हासिल किया। उन्होंने बेन स्टोक्स के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 48 रन की अहम साझेदाही निभाई थी। इस जोड़ी को सिराज ने तोड़ते हुए भारत को वापसी कराई थी। बेयरस्टो 67 गेंद पर 28 रन की पारी खेली और LBW होकर पवेलियन वापस लौटे।

"जिस गेंद पर जॉनी बेयरस्टो को उन्होंने आउट किया उसकी खास बात मुझे यह लगी कि इसकी रफ्तार पिछली की गई गेंद से 10 किलोमीटर प्रतिघंटा ज्यादा थी। उनको रफ्तार से मात दिया और पारी का अंत कर दिया। यह उनकी गेंदबाजी की कुछ छोटी खासियत थी। आपको इस गेंदबाज को सलाम करना ही चाहिए।"

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप