नई दिल्ली, जेएनएन। India vs Bangladesh test series: भारत और बांग्लादेश के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज में सभी का ध्यान 22 तारीख से कोलकाता (Kolkata test match) में होने वाले दूसरे टेस्ट पर हैं क्योंकि यह भारत का दिन-रात का पहला टेस्ट मैच होगा। भारत के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxamn) को लगता है कि दिन-रात प्रारूप का टेस्ट मैच भारत के दो प्रमुख स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) और रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के लिए चुनौतीपूर्ण होगा।

लक्ष्मण ने कहा कि गुलाबी गेंद की सीम उन तेज गेंदबाजों के लिए चुनौतीपूर्ण रहेगी, जिनकी काबिलियत गेंद को लगातार सीम के बूते टिप्पा खिलाना है। ऐसे गेंदबाजों को हवा में स्विंग नहीं मिलेगी लेकिन उन्हें परिस्थतियों से मदद मिलने की उम्मीद होगी।

लक्ष्मण ने कहा कि स्पिनर चाहेंगे कि गेंद की चमक जल्दी से खत्म हो जाए लेकिन गुलाबी गेंद पर अतिरिक्त परत होती है जो मुझे लगता है कि स्पिनरों के लिए मददगार नहीं होगी। ऐसे में अश्विन और जडेजा को चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। एक और चुनौती ओस की होगी क्योंकि वनडे मैचों में दूसरी पारी में स्पिनरों को परेशानी होती है इसलिए टेस्ट में भी गेंद गीली होने के कारण स्पिनरों को गेंद को पकड़ने में परेशानी आएगी।

आपको बता दें कि भारत और बांग्लादेश के बीच 22 नवंबर से कोलकाता के ईडन गार्डन पर डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा। विराट की कप्तानी में भारतीय टीम पहली बार पिंक बॉल से डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने जा रही है। ये टेस्ट मैच दोपहर एक बजे से रात आठ बजे तक खेला जाएगा। ड्यू फैक्टर को ध्यान में रखते हुए इस टेस्ट मैच के समय में ये बदलाव किया गया है। इसके लिए कैब ने बीसीसीआइ से मांग की थी कि ओस को ध्यान में रखते हुए इस मैच को दोपहर एक बजे से शुरू कराने की इजाजत दी जाए और बोर्ड ने इसकी इजाजत दे दी थी। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप