नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम ने ब्रिसबेन टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 328 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऐतिहासिक जीत दर्ज की। इस बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए रिषभ पंत ने दूसरी पारी में नाबाद 89 रन बनाए और भारत को जीत दिलाया। पंत की इस पारी की बदौलत भारत ने चौथा टेस्ट जीतकर ऑस्ट्रेलिया को सीरीज में 2-1 से हराया।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर अजय जडेजा ने रिषभ पंत के बारे में बात करते हुए कहा, "देखिए मेरा जो उनके साथ अनुभव रहा है, वो यह है कि हर बार जब उनको लेकर सवाल उठाए जाते थे कि किस तरह से खेलते हैं तो मैं पूरी तरह से सहमत होता था। वह जोखिम उठाते हैं, यहां तक की टेस्ट क्रिकेट खेलते में खेलते समय भी। कुछ साल पहले तब मैं दिल्ली में था और उनके टीम में नहीं चुना गया था।"

आगे जडेजा ने कहा, "मैं उनके साथ था और पूछा कि आप नेट्स में कल क्यों नहीं आए थे। आपको उस वक्त भी प्रैक्टिस करनी चाहिए, जब टीम में चयन नहीं हुआ हो। इस बात को सुनने के बाद उनका जवाब था कि पाजी जब जरूरत पड़ेगी ये घर से बुलाएंगे। यह एक बात है, जो मुझे याद रह गई। यह लगभग चार साल पुरानी बात है। यह उस वक्त की बात है, जब उनको दिल्ली की टीम में चुना गया था। रणजी ट्रॉफी की टीम में उनकी जगह किसी और खिलाड़ी को चुना गया था।"

"आज कल के बच्चों की मानसिकता कुछ ऐसी है। उनको इस बात का भरोसा है कि अगर वह अच्छे हैं तो उनकी जगह कोई भी नहीं ले सकता है और दुनिया में कोई रोकने वाला नहीं। वो इस वजह से नहीं खेलना चाहते, क्योंकि बाकी लोग उनको खेलते देखना चाहते हैं। वो अपने आसपास के लोगों को खुश करने के लिए नहीं खेलते हैं। इनको अपने आप पर भरोसा है, वो अपने इस विश्वास को बस एक चीज में रखते हैं कि मुझे पता है मेरे लिए क्या अच्छा है।"  

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप