रांची, प्रेट्र। Ind vs SA test series 2019: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि बतौर ओपनर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इतने सफल इस वजह से हुए क्योंकि उन्होंने चिंता और संकोच को अपने उपर हावी नहीं होने दिया। विराट ने कहा कि रोहित की पारियों की वजह से ही भारतीय गेंदबाजों को 20 विकेट हासिल करने का पूरा मौका मिला और हमें सीरीज में 3-0 से बड़ी जीत मिली।

रोहित शर्मा ने पहले टेस्ट मैच में 176 और 127 रन की पारी खेली थी जबकि तीसरे टेस्ट में उन्होंने 212 रन बनाए थे। टीम प्रबंधन का ये मानना है कि टेस्ट क्रिकेट में रोहित की सफलता मैच का रुख पलटने की ताकत रखती है। विराट ने रोहित की तारीफ करते हुए कहा कि चिंता और संकोच पर काबू पाकर इस तरह का प्रदर्शन करने का पूरा श्रेय खिलाड़ी को ही जाता है। रोहित ओपनर के तौर पर अपनी पहली ही टेस्ट सीरीज में मैन ऑफ द सीरीज रहे और ये उनके लिए शानदार रहा। 

विराट ने कहा कि सिमित प्रारूप में वो लंबे वक्त से शानदार ओपनर रहे हैं,लेकिन टेस्ट में बतौर ओपनर वो कैसा प्रदर्शन करेंगे इस बात पर संदेह था। रांची टेस्ट में बारिश की वजह से दो बार खेल रुका और रोहित ने जिस तेजी से बल्लेबाजी की उससे हमें मेहमान टीम को आउट करने का दो बार मौका मिला। मयंक के बारे में विराट ने कहा कि टीम में नए होने के बाद उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया। वहीं रहाणे के बारे में उन्होंने कहा कि उन्होंने लंबे  वक्त के बाद घरेलू मैदान पर शतक जड़ा। 

कप्तान विराट ने कहा कि उमेश यादव और मोहम्मद शमी ने सीरीज में 24 (60 में से) विकेट चटकाए और उनका स्ट्राइक रेट लंबे समय में दूसरे भारतीय गेंदबाजों से काफी बेहतर रहा। उन्होंने कहा कि अगर आप दोनों गेंदबाजों को देखेंगे तो भारतीय कंडीशन में उनका स्ट्राइक रेट शायद बेस्ट होगा। इससे यह पता चलता है कि ये खिलाड़ी स्टंप्स और पैड की लाइन में ज्यादा गेंदबाजी करते है। गेंदबाजी में ऐसी मारक क्षमता देखना अच्छा संकेत है। उनके फिटनेस का स्तर भी बढ़ा है। उन्होंने टीम की सफलता का श्रेय सकारात्मक ऊर्जा को किया। कप्तान के तौर पर टेस्ट में ये उनकी 31वीं जीत थी और उन्होंने कहा कि हम इसे आगे जारी रखना चाहते हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप