नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। टीम इंडिया को विराट कोहली की कप्तानी में साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा। भारत के पास इस बार टेस्ट सीरीज जीतने का मौका था, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया और केपटाउन टेस्ट मैच को 7 विकेट से गंवा कर भारत ने 29 साल पुराना इतिहास बदलने का मौका भी गंवा दिया। तीसरे टेस्ट मैच में मिली हार के बाद टीम इंडिया के कप्तान कोहली ने बताया कि आखिर क्यों भारत को इस टेस्ट सीरीज में हार मिली। 

कोहली ने कहा कि इस टेस्ट सीरीज में दोनों टीमों के बीच शानदार प्रतिद्वंदिता दिखी। हमने पहला मैच जीता, लेकिन साउथ अफ्रीका ने दूसरे टेस्ट में वापसी की और फिर तीसरा मैच भी उन्होंने जीत लिया। महत्वपूर्ण क्षणों में भी हमारी ओर से एकाग्रता में कुछ कमी आई। मुझे लगा कि दक्षिण अफ्रीका ने उन महत्वपूर्ण क्षणों में बेहतर प्रदर्शन किया और पूरी तरह से जीत की हकदार थी। यह कठिन विदेशी दौरे में से एक रहा और हमने जब भी विदेशी धरती पर अच्छा प्रदर्शन किया है हम जीते हैं। वहीं जब हमने ऐसा नहीं किया हमने मैच गंवाया। हमने 30-35 मिनट खराब बल्लेबाजी की और इसका खमियाजा हमें भुगतना पड़ा। 

कोहली ने कहा कि इस सीरीज में विपक्षी गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन आम तौर पर हमारा प्रदर्शन लगातार अच्छा नहीं रहा। हमारी बल्लेबाजी ही इस सीरीज में हार का सबसे बड़ा कारण बना। हमारे गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की और विपक्षी टीम पर दवाब बनाने में वो कामयाब रहे। इसमें कोई शक नहीं है कि हमें अपनी बल्लेबाजी में सुधार करने की जरूरत है। यहां कोई बहाना नहीं है और ये निराशाजनक रहा। हमने इंग्लैंड व आस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन साउथ अफ्रीका में यह सफलता की गारंटी नहीं देता। सच तो ये है कि हमने साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज नहींं जीती है और हमें इससे निपटने की जरूरत है। सेंचुरियन में मिली जीत शानदार थी, लेकिन केएल राहुल व मयंक और रिषभ पंत की बल्लेबाजी ये सबकुछ यादगार पल रहे। 

Edited By: Sanjay Savern