पुणे, प्रेट्र। Ind vs Sa 2nd test match 2019: भारत के अनुभवी टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) का मानना है कि घरेलू क्रिकेट में 2017 में एक ही सत्र में 1000 रन पूरे करने वाले मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) ने बड़ी पारियां खेलने का हुनर घरेलू क्रिकेट से सीखा है। टेस्ट क्रिकेट में नए ओपनर अग्रवाल ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में दोहरा शतक जमाने के बाद दूसरे टेस्ट के पहले दिन शतक जड़ा।

पुजारा ने कहा कि अग्रवाल अनुभवी खिलाड़ी हैं जिन्होंने प्रथम श्रेणी में काफी रन बनाए हैं। इससे उन्हें काफी मदद मिली। 90 के पास पहुंचने पर नर्वस होने की बात है तो वह इस मामले में निर्भीक हैं। उन्हें पता है कि पचासे को बड़ी पारियों में कैसे बदलना है। शतक पूरा करने पर वह बड़ी पारी खेलने में भी माहिर हैं। स्वयं बड़ी पारियां खेलने में माहिर पुजारा ने साझेदारी के दौरान अग्रवाल को क्या टिप्स दिए, यह पूछने पर उन्होंने कहा कि प्रथम श्रेणी क्रिकेट से बड़े स्कोर बनाने की आदत डल जाती है। मुझे उन्हें ज्यादा कुछ बताना नहीं पड़ा। हम उनकी रणनीति पर ही बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उनकी बल्लेबाजी में खामी होने पर मैं सिर्फ इतना कहता था कि शरीर के पास खेलो। वह खुद इतनी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे कि ज्यादा मार्गदर्शन देने की जरूरत ही नहीं पड़ी।

आपको बता दें कि मयंक अग्रवाल ने पहले टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने के बाद दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में पुणे में एक बार फिर से शतकीय पारी खेली। मयंक अग्रवाल ने रोहित के साथ पारी की शुरुआत की,लेकिन हिटमैन 14 रन पर आउट हो गए। इसके बाद मयंक ने एक छोर से पारी को संभाले रखा और 195 गेंदों का सामना करते हुए 108 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी  में 16 चौके व 2 छक्के जड़े। मयंक ने दूसरे विकेट के लिए पुजारा के साथ मिलकर 138 रन की शतकीय साझेदारी कर टीम के स्कोर को मजबूत स्थिति में ला दिया। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप