नई दिल्ली, जेएनएन। वनडे सीरीज में मिली हार के बाद अब टीम इंडिया दो मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए न्यूजीलैंड के खिलाफ तैयार है, लेकिन टीम इंडिया के लिए इस टेस्ट सीरीज में अनुभवहीन ओपनर्स बड़ी परेशानी खड़ी कर सकते हैं। टेस्ट सीरीज के लिए टीम के एक ओपनर तो फिक्स हैं जो मयंक अग्रवाल होंगे जबकि दूसरे ओवर के तौर पर पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल में कड़ा मुकाबला है। यानी मयंक के साथ इन दोनों में से कोई एक ये जिम्मेदारी निभा सकता है। 

न्यूजीलैंड के विरुद्ध टीम इंडिया को अपना पहला टेस्ट मैच 21 फरवरी से खेलना है और उससे पहले टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण का कहना है कि पहले टेस्ट मैच में भारतीय ओपनर बल्लेबाज काफी दवाब में रहने वाले हैं। उन्होंने कहा कि टेस्ट सीरीज में भारत की जीत इस बात पर निर्भर करेगी कि टीम के ओपनर बल्लेबाज के साथ-साथ अन्य बल्लेबाज भी नई गेंद से किस तरह से न्यूजीलैंड के गेंदबाजों का सामना करेंगे। 

वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि सबसे ज्यादा दवाब टीम इंडिया के ओपनर बल्लेबाजों पर होगी। मयंक जहां एक तरफ वनडे सीरीज में अच्छा नहीं कर पाए थे तो वहीं उन्होंने प्रैक्टिस मैच की पहली पारी में खाता भी नहीं खोल पाए थे। इसके बाद पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल दोनों अनुभवहीन हैं। अगर हमें न्यूजीलैंड पर दवाब बनाना है तो आपको पहली पारी में बड़ा स्कोर बोर्ड पर टांगना होगा। भारतीय बल्लेबाजी इस बात पर ज्यादा निर्भर करेगी कि वो नई गेंद के साथ मेजबान टीम के गेंदबाजों से कैसे निपटेंगे। 

आपको बता दें कि पहले टेस्ट मैच से ठीक पहले तीन दिवसीय अभ्यास मैच की पहली पारी में भारत के दोनों ओपनर बल्लेबाज जल्दी आउट हो गए थे। पहली पारी में भारत ने अपने चार विकेट 38 रन के स्कोर पर गंवा दिया था और अन्य बल्लेबाज भी नई गेंद पर कीवी गेंदबाजों का सामना ज्यादा जोरदार तरीके से नहीं कर पाए थे। वहीं दूसरी पारी में टीम इंडिया ने वापसी जरूर की, लेकिन तब तक पिच थोड़ी बेहतर हो गई थी। मयंक ने दूसरी पारी में 81 रन बनाए थे। मयंक ने कहा था कि पहली पारी में पिच आसान नहीं था, लेकिन मुझे दूसरी पारी में खेलने का मौका मिला और मैं अपने इस फॉर्म को टेस्ट में भी जारी रखना चाहता हूं। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस