एजबेस्टन, प्रेट्र। भारत के कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि एजबेस्टन में टीम अपनी गलतियों को सुधारने की कोशिश करेगी। गलतियों के बारे में बताते हुए द्रविड़ ने कहा कि मैच के चौथे दिन हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की। उसके बाद हमारी गेंदबाजी में कोई दम नहीं दिखा, लेकिन हमें इंग्लैंड को शानदार बल्लेबाजी के लिए श्रेय देना होगा। दक्षिण अफ्रीका और यहां निराशाजनक प्रदर्शन रहा है। इसके लिए कई तरह के कारक हो सकते हैं। हमें फिटनेस का स्तर बनाए रखना होगा। हमारी बल्लेबाजी में वह बात नजर नहीं आ रही हैं। बल्लेबाजी खास नहीं थी।

उन्होंने आगे कहा कि हर मैच के बाद एक सीख होती है। हम दूसरी पारी में खराब बल्लेबाजी और चौथी पारी में खराब गेंदबाजी क्यों कर रहे हैं? हम इसके बारे में सोचेंगे। आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को बाहर करने और शार्दुल ठाकुर को अंतिम एकादश में शामिल करने के बारे में पूछे जाने पर द्रविड़ ने कहा कि यह आसान निर्णय नहीं था। अश्विन जैसे किसी खिलाड़ी को बाहर बैठाना आसान नहीं है। लेकिन विकेट पर पहले दिन घास थी। फिर विकेट उतना नहीं टूटा, जितना हमें आशा थी।

आपको बता दें कि इस मैच के खत्म होने के बाद भारत के कार्यवाहक कप्तान जसप्रीत बुमराह ने इंग्लैंड के हाथों पांचवें टेस्ट में मिली हार के लिए दूसरी पारी में बल्लेबाजों की नाकामी पर ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि पहले तीन दिन दबाव बनाने के बाद उन्होंने मैच पर से पकड़ छोड़ दी। बुमराह ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट की यही खूबी है कि तीन दिन अच्छा खेलने के बावजूद यह संभव है। हम सोमवार को अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर सके और वहीं से मैच हमारी जद से निकल गया। बुमराह ने कहा कि उन्होंने कप्तानी की जिम्मेदारी का पूरा मजा लिया। उन्होंने कहा, 'यह मैंने तय नहीं किया था। मुझे जिम्मेदारियां पसंद हैं। यह अच्छी चुनौती थी और टीम की कप्तानी करना गर्व की बात है और शानदार अनुभव भी।

Edited By: Sanjay Savern