नई दिल्ली, जेएनएन। टीम इंडिया को जब पहले वनडे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 66 रन से हार मिली तब विराट कोहली ने कहा कि ऑलराउंडर्स की कमी टीम को महसूस हो रही है। वहीं दूसरे वनडे में हार्दिक पांड्या ने गेंदबाजी भी की, लेकिन फिर भी टीम को हार मिली। हालांकि कई लोगों को ऐसा लगता है कि टीम इंडिया में ऑलराउंडर की कमी है, लेकिन पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा का ऐसा नहीं मानते। 

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर टीम इंडिया की हार के बारे में बात करते हुए कहा कि, भारतीय टीम को ऑलराउंडर की कमी की वजह से नहीं बल्कि पावरप्ले में विकेट नहीं मिलने की वजह से हार मिल रही है। उन्होंने कहा कि अगर हम भारतीय गेंदबाजी को देखें तो ये साफ है कि हम नहीँ गेंद से विकेट लेने में सफल नहीं हो पा रहे हैं। काफी समय बीत गए, पिछले तीन वनडे मैचों में भारत के खिलाफ दूसरी टीमों के ओपनर्स ने शतकीय साझेदारियां की हैं। अगर आप नई गेंद से पहले 20 ओवर में विकेट नहीं लेते हैं तो फिर आप कितनी भी अच्छी गेंदबाजी करें उससे कोई फर्क नहीं पड़ता है।  

विराट कोहली ने पहले मैच में मिली हार के बाद कहा था कि, उन्हें छठे गेंदबाज की कमी महसूस हुई थी, लेकिन दूसरे वनडे में हार्दिक पांड्या ने 434 दिनों के बाद गेंदबाजी की। उन्होंने दूसरे वनडे में चार ओवर गेंदबाजी की और स्टीव स्मिथ का विकेट भी लिया। अब ऐसा लग रहा है कि हार्दिक पांड्या तीसरे वनडे में भी गेंदबाजी करेंगे, लेकिन आकाश चोपड़ा को लगता है कि जब टीम के मुख्य तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, मो. शमी, नवदीप सैनी विकेट लेने में सफल नहीं हो पा रहे हैं तो हार्दिक टीम की कुछ ज्यादा मदद नहीं कर सकते।

आकाश ने कहा कि हार्दिक पांड्या ने काफी लेट गेंदबाजी की और स्मिथ का विकेट भी लिया, लेकिन जब टीम के मुख्य गेंदबाज ही विकेट नहीं ले पा रहे हैं तो छठा, सातवां या आठवां गेंदबाज क्या करेगा। अगर टॉप के गेंदबाज विकेट नहीं ले पा रहे हैं तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि टीम में कितने ऑलराउंडर खेल रहे हैं। भारतीय टीम वनडे सीरीज पहले ही गंवा चुकी है और अब तीन मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला बुधवार को कैनबरा में खेला जाएगा। 

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021