नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले वनडे में 66 रन से हार का सामना करना पड़ा। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान ने 50 ओवर में 375 रन का विशाल लक्ष्य रखा था। टीम इंडिया 8 विकेट के नुकसान पर 308 रन ही बना पाई। 66 रन से मैच जीत कर ऑस्ट्रेलिया ने तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल की।

मैच के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि हमने पहले 25 ओवर में ही मैच छोड़ दिया था। टीम की शारीरिक भाषा सही नजर नहीं आई साथ ही हार्दिक पांड्या के गेंदबाजी नहीं करने का भी नुकसान हुआ। बल्लेबाजी में कमाल करने वाले पांड्या के चोटिल होने को कप्तान कोहली ने दुर्भाग्य बताया।

हार्दिक का गेंदबाजी नहीं कर पाना दुर्भाग्य

कोहली ने कहा, "यह वाकई हमारा दुर्भाग्य है कि हार्दिक गेंदबाजी करने के लिए पूरी तरह से फिट नहीं हैं और हमारे पार ऑलराउंडर का दूसरा विकल्प भी मौजूद नहीं है। जैसे कि ऑस्ट्रेलिया के पास स्टोइनिस और मैक्सवेल हैं। बल्लेबाजी के लिहाज से अब हमें एक बार बैठकर बात करनी होगी। सभी बल्लेबाज अपने काम को लेकर समर्पित हैं इसी वजह से आप हमें इस इरादे के साथ खेलते देखते हैं।

आगे उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि हमने अपने आप को अच्छा मौका दिया था। हार्दिक की पारी सबसे बेहतरीन रही और यह इसी बात का उदाहरण है। एक बल्लेबाजी यूनिट के तौर पर हम सकारात्मक क्रिकेट खेलने के लिए समर्पित हैं। भविष्य में भी हम ऐसा ही करेंगे।"

हार्दिक पांड्या सिडनी वनडे में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। 76 गेंद पर उन्होंने 7 चौके और 4 छक्के की मदद से कुल 90 रन की पारी खेली। पांड्या ने ओपनर शिखर धवन के साथ मिलकर 5वें विकेट के लिए 128 रन की साझेदारी निभाई।   

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021