नई दिल्ली, जेएनएन। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच की पहली पारी में गहरे संकट में आए भारतीय टीम की नैया वाशिंगटन सुंदर व शार्दुल ठाकुर ने शतकीय साझेदारी करते हुए पार लगाई। इन दोनों खिलाड़ियों ने सातवें विकेट के लिए 123 रन की साझेदारी की और टीम के स्कोर को 336 तक पहुंचाने में बड़ी भूमिका निभाई। कमाल की बात ये रही कि, टीम इंडिया के इन बल्लेबाजों के टेस्ट में ज्यादा मैच खेलने का अनुभव नहीं था ऐसी स्थिति में भी इन्होंने ऑस्ट्रेलिया की मजबूत गेंबदबाजी अटैक का डटकर मुकाबला किया। 

बेशक पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को 33 रन की बढ़त मिली, लेकिन भारतीय टीम को मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल हुई और कंगारू टीम जैसा चाहती थी वो नहीं हो पाया और फिलहाल दवाब मेजबान टीम पर है। ब्रिसबेन टेस्ट मैच की पहली पारी में सुंदर और शार्दुल की शानदार बल्लेबाजी को देखकर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली भी उनकी तारीफ किए बिना नहीं रह सके। 

विराट कोहली ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, वाशिंगटन सुंदर और शार्दुल ठाकुर ने समर्पण और आत्मविश्वास का बेहतरीन परिचय दिया। यही टेस्ट क्रिकेट की खूबसूरती है। उन्होंने लिखा वॉशी तुमने अपने टेस्ट डेब्यू पर उच्च स्तरीय धैर्य दिखाया तो वहीं उन्होंने शार्दुल ठाकुर के लिए मराठी का प्रयोग करते हुए उनकी तारीफ की। विराट ने लिखा कि, ठाकुर तुम्हें फिर मानता हूं। 

ब्रिसबेन टेस्ट मैच की पहली पारी में वाशिंगटन सुंदर ने 62 रन जबकि शार्दुल ठाकुर ने 67 रन की पारी खेली। शार्दुल भारतीय टीम की तरफ से सबसे ज्यादा स्कोर बनाने वाले बल्लेबाज भी रहे तो वहीं पहली पारी में इन दोनों ने गेंदबाजी भी शानदार की थी। पहली पारी में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन मिला-जुला रहा। कोशिश तो सभी ने की, लेकिन कोई बड़ा स्कोर नहीं बना पाया। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से तेज गेंदबाज जोस हेजलवुड की गेंदबाजी शानदार रही और उन्होंने पहली पारी में 5 विकेट चटकाए। 

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप