मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

हैदराबाद, प्रेट्र। ऑस्ट्रेलिया को पहले वनडे में हराने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली अपनी टीम के प्रदर्शन से खुश दिखे। मैच के बाद कोहली ने केदार जाधव और महेंद्र सिंह धौनी की तारीफ की लेकिन साथ ही कहा कि इस जीत में गेंदबाजों के योगदान को नहीं भुलाया जा सकता है, जिन्होंने पूरे मैच में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को बांधे रखा।

विराट ने मैच के बाद रवींद्र जडेजा के प्रदर्शन की जमकर तारीफ की और इशारों-इशारों में ही ये संदेश दिया कि जडेजा विश्व कप टीम का हिस्सा हो सकते हैं, क्योकि वह उनके प्रदर्शन से बेहद प्रभावित नजर आ रहे हैं। कप्तान ने कहा कि जडेजा ने शानदार 10 ओवरों में सिर्फ 35 रन दिए। उन्होंने बेहद टाइट लाइन से गेंदबाजी की और अपने हिसाब से क्षेत्ररक्षण लगाया। वह क्षेत्ररक्षण में भी शानदार हैं। साथ ही अब वह आत्मविश्वास में भी दिख रहे हैं। सिर्फ गेंदबाजी या क्षेत्ररक्षण नहीं बल्कि बल्लेबाजी में भी वो खुद पर विश्वास दिखा रहे हैं।

हालांकि उनके अलावा उन्होंने कुलदीप यादव और मुहम्मद शमी की भी तारीफ की और कहा कि जिस तरह से शमी इस प्रारूप में आए हैं, मैंने उन्हें पहले ऐसा नहीं देखा। विराट ने इस जीत के बाद कहा कि यह मुश्किल मैच था। मुझे लगता है हमने गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया। हम फंस गए थे लेकिन धौनी और केदार के रूप में अनुभवी खिलाडि़यों के बीच हुई साझेदारी से हमे जीत मिली।

जिम्मेदारी से खुश हूं : केदार

मैन ऑफ द मैच बने जाधव ने अपनी गेंदबाजी पर बात करते हुए कहा कि मैं गेंदबाजी में बल्लेबाज के दिमाग को पढ़ता हूं। गेंद को स्टंप पर ही रखने की कोशिश करता हूं। मैं यह नहीं सोचता कि वह एक गेंदबाज हूं। मैं अपनी जिम्मेदारी से खुश हूं। जाधव और धौनी ने भारत को मेलबर्न में भी जनवरी में लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत दिलाई थी। धौनी के बारे में जाधव ने कहा कि दूसरे छोर पर धौनी के रहने से मानसिक संतुलन बना रहता है, क्योंकि वह मैच को अंत तक खींचने में विश्वास रखते हैं। जाधव ने कहा कि हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में हमने कुछ इसी तरह लक्ष्य का पीछा किया था। हमने अब फिर ऐसा किया। मैं धौनी से काफी कुछ सीखने का प्रयास करता हूं। धौनी और विराट बेहद ही शानदार तरीके से रनों का पीछा करते हैं।

20 से 30 रन कम रह गए : फिंच

छह विकेट से मैच हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने कहा कि उनकी टीम को बड़ा लक्ष्य देना चाहिए था, लेकिन लगातार विकेट गिरने से हम पर दबाव आ गया। फिंच ने कहा कि हम 20 से 30 रन कम बना पाए। मुझे लगता है कि हमारे गेंदबाजों ने अपना पूरा काम किया। हालांकि आप जब एक अच्छी टीम के खिलाफ खेल रहे होते हैं तो आपको लगातार विकेट लेने होते हैं।

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप