नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम व ऑस्ट्रेलिया के बीच गाबा में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का आखिरी मुकाबला खेला जा रहा है। इस मैच की पहली पारी में टीम इंडिया के खिलाफ कंगारू टीम ने पहली पारी 369 रन बनाए थे और भारत की तरफ से टी नटराजन, शार्दुल ठाकुव व वाशिंगटन सुंदर ने तीन-तीन विकेट हासिल किए, लेकिन तेज गेंदबाज मो. सिराज को सिर्फ एक सफलता मिली। उन्होंने 28 ओवर फेंके और 77 रन दिए, लेकिन उनका इकानॉमी रेट सिर्फ 2.80 का रहा। 

मो. सिराज की गेंदबाजी की पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने जमकर तारीफ की। सचिन तेंदुलकर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि, जब मो. सिराज गेंदबाजी कर रहे थे तब मैंने कई लोगों को ये कहते हुए सुना कि, वो गेंद को पिच की दरारों में डाल रहे हैं। वैसे सिराज की गेंदबाजी को लेकर मेरी राय थोड़ी अलग है। वो आउट स्विंग गेंदबाजी करते वक्त गेंद का शानदार तरीके से रीलिज कर रहे थे। गेंदबाजी के समय उनका सीम पोजिशन पहले या दूसरे स्लिप की तरफ था। यही नहीं जब वो कटर फेंकना चाहते थे तब वो गेंद के अधिक चमकीले हिस्से को ऑफ साइड की तरफ रख रहे थे। 

सचिन ने आगे कहा कि, उन्हें जो मूवमेंट मिल रही थी वो पिच की दरारों की वजह से नहीं बल्कि ये उनकी अपनी खासियत है। मो. सिराज ने इस टेस्ट मैच में अब तक अच्छी गेंदबाजी की है और मेलबर्न टेस्ट मैच में उन्होंने 5 विकेट हासिल किए थे। वहीं सिडनी टेस्ट मैच में उन्हें दो सफलता मिली जबकि गाबा टेस्ट मैच की पहली पारी में उन्होंने एक विकेट लिया। वहीं इस टेस्ट मैच में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया ने 2 विकेट के नुकसान पर 62 रन बना लिए थे। रोहित शर्मा पहली पारी में 44 रन बनाकर जबकि शुभमन गिल 7 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे। 

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप