नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर पृथ्वी शॉ को इन दिनों खराब फॉर्म की वजह से काफी आलोचना झेलनी पड़ रही है। एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में पृथ्वी दोनों पारी में रन बनाने में नाकाम रहे। खराब फॉर्म के बाद भी पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर माइकल हसी ने उनपर भरोसा जताया है और चयनकर्ताओं को भी पृथ्वी का साथ देने की गुजारिश की है।

मुझे लगता है कि चयनकर्ताओं को अभी पृथ्वी शॉ पर भरोसा रखना चाहिए। हां, उन्होंने रन नहीं बनाया है इस टेस्ट मैच में लेकिन यह बेहतरीन गेंदबाज और मुश्किल पिच बल्लेबाजी करने वाला टेस्ट मैच था। जो बर्न्स का औसत फर्स्टक्लास क्रिकेट में सात से भी कम रहा। चयनकर्ताओं ने उनके उपर भरोसा जताया। वह पहली पारी में सस्ते में आउट हो गए लेकिन आहिस्ता आहिस्ता उन्होंने अपना आत्मविश्वास हासिल किया, अपने उपर काम किया। आप इस खिलाड़ी का चरित्र देखिए की उन्होंने अर्धशतकीय पारी खेलकर मैच खत्म किया।

पृथ्वी शॉ के साथ ऐसी है कि उनपर थोड़ा भरोसा जताने की जरूरत है और उनको यह विश्वास दिलाने की जरूरत है कि देखिए हम आपके साथ खड़े हैं। मेलबर्न की पिच उनको काफी ज्यादा रास आने वाली है। उसमें निश्चित तौर पर उस तरह की तेजी नहीं होगी और ना ही उछाल ही होगा। उसमें कोई शक नहीं कि उनके अंदर काफी टैलेंट है।

इससे क्या होता है कि टीम के बाकी खिलाड़ियों को भी एक संदेश जाता है। यह खिलाड़ियों के लिए ऐसा है कि देखो चाहे आपका टेस्ट मैच खराब भी क्यों ना जाए हम आपके साथ हैं, आप सभी को अपने आप से भरोसा नहीं खोना है। हम जानते हैं कि आप एक अच्छे खिलाड़ी हैं और आपका समर्थन करेंगे। मेरा मानना है कि चयनकर्ताओं को उनके साथ बने रहना चाहिए यह जानते हुए भी कि टेस्ट में उनका फॉर्म अच्छा नहीं जा रहा।  

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप