सिडनी, पीटीआइ। भारतीय क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच और स्टीव स्मिथ ने शतकीय पारी के साथ सीरीज की शुरुआत की तो भारतीय कप्तान विराट कोहली फ्लॉप रहे। भारत की तरफ से हार्दिक पांड्या ने सबसे बड़ी पारी खेली। मैच के बाद उन्होंने कहा की टीम को छठे गेंदबाज की जरूरत है।

टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने कहा कि वह तभी गेंदबाजी करेंगे जब समय सही होगा और साथ ही उन्होंने टीम से बहु प्रतिभा वाले अन्य खिलाडि़यों को तराशने का आग्रह किया क्योंकि यहां शुरुआती वनडे में ऑस्ट्रेलिया से मिली हार के दौरान उनकी गेंदबाजी की काफी कमी महसूस की गई। यह ऑलराउंडर पीठ की सर्जरी के बाद अभी तक गेंदबाजी का भार संभालने के लिए तैयार नहीं है जिससे टीम का संतुलन प्रभावित हो रहा है।

पांड्या ने कहा, मैं अपनी गेंदबाजी पर काम कर रहा हूं। मैं गेंदबाजी करूंगा, जब सही समय होगा। उन्होंने कहा कि यह अहम है कि जब वह मैच की परिस्थितियों में गेंदबाजी करना शुरू करें तो वह बेहतरीन प्रदर्शन के लिए जरूरी रफ्तार हासिल कर पाएं। इस ऑलराउंडर ने नेट पर गेंदबाजी करना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि भारत को ऑलराउंडरों के विकल्पों के बारे में विचार करना चाहिए क्योंकि छठा गेंदबाजी विकल्प वनडे टीम के संतुलन के लिए जरूरी है।

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने मैच के बाद कहा, "हर इंसान की अपनी अलग कमजोरी और ताकत होती है। वार्नर विकेट पर अच्छी तरह मूव कर रहे हैं जिस पर वह लगातार काम कर रहे थे। स्मिथ अलग क्लास के बल्लेबाज हैं। मैक्सवेल के पास अलग तरह की काबिलियत है, उन्होंने आते ही अपना काम किया और विपक्षी टीम को दबाव में ला दिया।"

मैच में शतकीय पारी खेलने वाले पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा, "मैं अपनी बल्लेबाजी में किसी चीज की कमी महसूस कर रहा था। इस मैच में आखिरकार मुझे वह मिल गई, जिससे मुझे लय में लौटने में मदद मिली। फिंच और वार्नर ने अच्छा खेला, जिससे हमें बाद में आकर आक्रामक होने में मदद मिल गई। हमने खुलकर अपने शॉट खेले।"

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021