इंदौर। श्रीलंका के खिलाफ विराट की गैरमौजूदगी में रोहित आखिरी बार रविवार को भारतीय टीम के कप्तान के तौर पर मैदान पर उतरेंगे। रोहित ने अपनी कप्तानी में श्रीलंका के खिलाफ टीम को वनडे और टी20 सीरीज में जीत दिलाई। रविवार को होने वाले टी 20 मुकाबले के बाद भारतीय टीम को द. अफ्रीका दौरे पर जाना है और इस दौरे के लिए नियमित कप्तान विराट टीम के साथ जुड़ जाएंगे। विराट लगभग एक महीने की लंबी छुट्टी के बाद टीम के साथ जुड़ेंगे। 

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी 20 मैच में 35 गेंदों पर रिकॉर्ड शतक लगाने वाले रोहित ने कहा कि मैंने पहली बार भारतीय टीम की कप्तानी की। कप्तानी करने पर आप पर काफी दबाव होता है साथ ही रविवार को मुंबई में होने वाले टी20 मैच में भी दबाव रहेगा। इस मैच के बाद मुझे खुद भी नहीं पता कि मैं अगली बार कब भारतीय टीम का कप्तान बनूंगा इसलिए मैदान पर कप्तान के तौर पर मेरे लिए हर क्षण अहम है। रोहित ने आइपीएल में मुंबई इंडियंस के लिए कप्तानी की है लेकिन राष्ट्रीय टीम की कप्तानी के वक्त करोड़ों लोगों की उम्मीद का कितना दबाव होता है इसका अहसास उन्हें पहली बार हुआ। 

रोहित ने कहा कि कप्तानी के वक्त दबाव तो होता ही है खासतौर पर धर्मशाला के मैच में मैं और ज्यादा दबाव महसूस कर रहा था क्योंकि उस मैच में ऐसा लग रहा था कि भारतीय टीम वनडे में अपने सबसे न्यूनतम स्कोर पर आउट ना हो जाए। हम 140 करोड़ लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं और इसका दबाव हम पर होता है। 

इंदौर में शतक लगाने वाले रोहित से जब पूछा गया कि उनकी शतकीय पारी के दौरान उनके किसी शॉट ने उन्हें सरप्राइज कर दिया इस पर उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ गेंद को उस दिशा को हिट करने की कोशिश कर रहा था जहां मैं गेंद को भेजना चाहता था। मेरे सभी शॉट्स ने मुझे आनंदित किया। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप