जोहानिसबर्ग, पीटीआइ। दक्षिण अफ्रीका के हेनरिक क्लासेन ने कहा कि वह भारतीय कप्तान विराट कोहली के डेथ ओवरों में भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के बजाय कलाई के स्पिनरों से गेंदबाजी कराने के फैसले से हैरान हैं। कोहली ने डेथ ओवरों में भुवनेश्वर और बुमराह से गेंदबाजी नहीं कराई, जबकि कलाई के स्पिनर काफी रन गंवा रहे थे।

क्लासेन ने कोहली की डेथ ओवर में भुवी और बुमराह से गेंदबाजी नहीं कराने की रणनीति के बारे में कहा, ‘मैं इस फैसले से काफी हैरान था। डेविड मिलर और मैं सोच रहे थे कि उन्होंने उन्हें (तेज गेंदबाजों को) अंत में दो दो ओवरों के लिए रखा हुआ है, लेकिन मुझे लगता है कि यह सीरीज अभी तक जिस तरह की रही है, उससे ही उन्होंने बचे हुए ओवरों में अपने स्पिनरों से गेंदबाजी कराई, लेकिन मैं इससे काफी हैरान था।’

यह भी पढ़ें: अपनों ने ही विराट कोहली को किया परेशान, देखता रह गया पूरा हिंदुस्तान

कोहली का यह फैसला हालांकि कारगर नहीं रहा, क्योंकि स्पिन जोड़ी दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को रोकने में असफल रही, जिससे उन्होंने 11.3 ओवर में 119 रन लुटाए और महज तीन विकेट हासिल किए। इस 26 वर्षीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने टीम में चोटिल क्विंटन डि कॉक की जगह ली। उन्होंने कहा कि कुलदीप यादव ने अपनी विविधता से दक्षिण अफ्रीका को परेशान किया है।

क्लासेन ने कहा, ‘मैं ऐसा नहीं कहूंगा कि हमने स्पिन की पहेली को सुलझा लिया है। सीरीज शुरू होने से पहले समस्या यह थी कि हम चाइनामैन (कुलदीप) को समझ नहीं पा रहे थे। निश्चित रूप से इससे अंतर पड़ता है क्योंकि इसलिए ही आप उनके खिलाफ रन नहीं बना पा रहे थे। किसी को भी चहल की गेंद को समझने में परेशानी नहीं हो रही थी, लेकिन वह काफी विकेट हासिल करते हुए दिख रहे हैं। हमें चाइनामैन की विविधता को समझने में दिक्कत हो रही थी, लेकिन हमने पिछले दो-तीन दिन में उस पर काफी होमवर्क किया है और इस मैच में यह कारगर होता दिखा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal