लंदन, जेएनएन। लॉर्ड्स टेस्ट के तीसरे दिन इंग्लैंड ने अपनी स्थिति काफी मजबूत कर ली।  तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक 6 विकेट पर 357 रन बना लिए और उसके पास 250 रन की बढ़त हो गई है। तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद हार्दिक पांड्या ने बताया कि तीसरे दिन लंच के बाद के सत्र में गेंदबाजों को किसी तरह की मदद नहीं मिली जिससे मेजबान टीम के बल्लेबाजों को फायदा हुआ। 

हार्दिक ने कहा, 'लंच के बाद कुछ नहीं हुआ। हालांकि एक बॉलिंग यूनिट के तौर पर हमने कोशिश की लेंकिन गेंद का स्विंग होना बंद हो गया और उन्होंने (वोक्स, बेयरस्टो) ने मैच हमसे दूर कर दिया।' उन्होंने कहा, 'ऐसा होता है, टेस्ट मैच में मैंने देखा है। आप 4-5 विकेट निकाल लेते हो लेकिन फिर एक पार्टनरशिप सब कुछ बदल देती है। हमारी बैटिंग लाइनअप में भी ऐसा हुआ है, यह खेल का हिस्सा है।'

इस टेस्ट मैच में इंग्लैंड की टीम ने भारत को पहले बल्लेबाज़ी करने का न्योता दिया था। टीम इंडिया पहली पारी में मात्र 107 रन पर ऑलआउट हो गई थी। इसके बाद इंग्लैंड के 5 विकेट भी 131 रन तक गिर गए थे लेकिन फिर क्रिस वोक्स और जॉनी बेयरस्टो ने भारतीय टीम के लिए मुश्किलें खड़ी कर दीं। दोनों ने छठे विकेट के लिए 189 रन जोड़कर अपनी टीम को फ्रंटफुट पर ला दिया। जॉनी बेयरस्टो तो 93 रन की दमदार पारी खेलने के बाद आउट हो गए, लेकिन क्रिस वोक्स ने टेस्ट करियर का पहला शतक जड़कर ही दम लिया। वोक्स अब भी 120 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे।  

पांडया ने कहा कि, 'जो स्कोर हमने पहली पारी में बनाया, उतना ही कोई और टीम बना पाती क्योंकि ऐसी परिस्थितियों में खेलना मुश्किल होता है। हल्की नमी भी मैदान पर है।' उन्होंने कहा कि तीसरे दिन परिस्थितियां पूरी तरह अलग थीं। उन्होंने साथ ही कहा कि मैच 5 दिन का होता तो स्पिनरों की भूमिका काफी रहती लेकिन बारिश से टीम को नुकसान हुआ।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal