नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन में खेलने उतरी टूर्नामेंट की नई टीम गुजरात टाइटंस ने धमाकेदार खेल दिखाया है। पहले 8 में से 7 मैच जीत कर टीम ने 14 अंक हासिल कर प्लेआफ की दावेदार मजबूत कर ली। गुरुवार को टीम ने बेहद रोमांचक मुकाबले में आखिरी ओवर में चार छक्के के दम पर हैदराबाद के खिलाफ जीत हासिल की। 196 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए आखिरी गेंद पर छक्का लगा हैदराबाद के खिलाफ गुजरात ने जीत दर्ज की। 

राशिद खान और राहुल तेवतिया से आइपीएल की आधिकारिक साइट पर बात करते हुए कप्तान हार्दिक पांड्या ने बताया आखिरी ओवर के दौरान उनके और हेड कोच आशीष नेहरा के बीच क्या बात हुई। हार्दिक ने कहा, "अब मैं मुकाबलों को दोनों पक्ष की तरफ से देखने लगा हूं, ना तो बहुत ज्यादा खुश होता हूं और ना ही हद से ज्यादा दुखी, क्योंकि मेरा जो बर्ताव होगा, वही डर आउट में भी सबके उपर असर डालेगा। लेकिन इन सभी मुकाबलों के दौरान मैं और आशु पा (आशीष नेहरा) इस बात को सोच रहे थे कि मैच बहुत ही ज्यादा मुश्किल होता जा रहा है।"

"मैं तो सुपर ओवर के लिए तैयार हो रहा था लेकिन आशु भाई ने मुझे कहा, रुक जाओ अभी, हम मैच को जरूर ही खत्म करने वाले हैं। आपने (राहुल तेवतिया) थाई पैड को वापस भेजा और मुझे लगा ये लोग तो अब सुपर ओवर के लिए जाने वाले हैं।"

तेवतिया ने हार्दिक को थाई पैड वापस भेजने के बारे में कहा, "मैंने सोचा अगर जो गेंदबाज यार्कर डालेगा तो राशिद भाई वो शाट लगाने वाले हैं जो आमतौर पर पैरों के बीच से स्क्वायर बाउंड्री की तरफ मारते हैं। मैंने यह भी सोचा था कि अगर जो यह छक्का नहीं हुओ तो मुझे किसी भी तरह से दौड़ लगाना होगा, लेकिन राशिद भाई ने यह कर दिखाया।"

 

Edited By: Viplove Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट