मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

 नई दिल्ली, जेएनएन। वर्ल्ड कप 2019 में अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का प्रदर्शन काफी निराश करने वाला रहा। इस टीम को एक भी लीग मैच में जीत नहीं मिली और टीम ने अपना सफर दसवें नंबर पर रहकर खत्म किया। हालांकि अफगानिस्तान की टीम ने क्वालीफिकेशन के जरिए विश्व कप में जगह बनाई थी और उम्मीद की जा रही थी कि टीम चौंकाने वाला प्रदर्शन कर सकती है पर ऐसा नहीं हो सका। विश्व कप के दौरान टीम के अंदर मतभेद की बातें भी सामने आई थी। 

अब विश्व कप में टीम की कप्तानी करने वाले गुलबदीन नैब ने बड़ा चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने टीम के सीनियर खिलाड़ियों पर बड़ा आरोप लगाया है और कहा है कि मुश्किल वक्त पर उन्हें सीनियर खिलाड़ियों का साथ नहीं मिला। उन्होंने कहा कि टीम के सीनियर खिलाड़ी मेरा सहयोग नहीं करते थे। वे जानबूझकर खराब खेले थे और जब मैं उन्हें गेंदबाजी के लिए कहता था तो वो मेरी तरफ देखते तक नहीं थे। उन्होंने यहां तक कहा कि खिलाड़ी मैच हारने के बाद निराश नहीं दिखते थे बल्कि हंसते हुए नजर आते थे। इस विश्व कप में अफगानिस्तान की टीम दो-तीन मौकों पर जीत के करीब पहुंच गई थी लेकिन उन्हें जीत नहीं मिली। नैब को टीम के खराब प्रदर्शन के लिए जिम्मेदार माना गया कि वो अहम मौकों पर अपनी जिम्मेदारी सही तरीके से नहीं निभा पाए। नैब ने इस बात का खुलासा तब किया है जब उनसे कप्तानी छीन ली गई और राशिद खान को टीम का कप्तान नियुक्त किया गया है। 

गुलबदीन नैब को वर्ल्ड कप शुरू होने से ठीक पहले अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया था। उनके कप्तान बनने पर टीम के कुछ सीनियर खिलाड़ी जैसे कि मो. नबी व राशिद खान ने बोर्ड के इस फैसले पर निराशा जाहिर की थी। हालांकि विश्व कप के दौरान नैब ने किसी तरह का कोई बयान नहीं दिया था, लेकिन उनकी कप्तानी छीन जाने के बाद उन्होंने इस सारी बातों का खुलासा किया। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप