नई दिल्ली,ऑनलाइन डेस्क। विराट कोहली जब साल 2014 में इंग्लैंड दौरे पर गए थे तब उनका प्रदर्शन वहां टेस्ट सीरीज में काफी खराब रहा था। उस समय, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, आदि जैसे दिग्गजों के संन्यास के बाद, युवा कोहली भारतीय क्रिकेट के पोस्टर बॉय बन गए थे। विराट के लिए साल 2014 इंग्लैंड दौरा काफी खराब था और टेस्ट सीरीज की 10 पारियों में उन्होंने 13.4 की औसत से 134 रन बनाए थे। उस सीरीज के दौरान जेम्स एंडरसन विराट कोहली के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बने थे और उन्हें चार बार आउट किया था। इसके बाद जब साल 2018 में भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी तब फिर से कोहली और एंडरसन पर सबकी निगाहें थी कि, कौन बाजी मारता है। 

साल 2018 में कोहली ने एंडरसन को कोई मौका नहीं दिया और वो विराट को एक बार भी आउट नहीं कर पाए थे। अब एक बार फिर से कोहली बना एंडरसन की चर्चा हो रही है और इस बार कौन बाजी मारेगा इसे लेकर पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर ग्रीम स्वान ने भविष्यवाणी की है। स्वान ने कहा कि, 2014 में विराट के साथ जो हुआ उसके बाद वो साल 2018 में पूरी तैयारी के साथ आए थे और एंडरसन को अपने उपर हावी नहीं होने दिया। एक बार फिर से विराट पूरी तैयारी के साथ आए होंगे क्योंकि उन्हें पता है कि, एंडरसन किस हद तक इंग्लैंड की पिच पर खतरनाक साबित हो सकते हैं। 

स्वान ने आगे कहा कि, विराट कोहली जरूर इंग्लिश गेंदबाजों के वीडियो देख रहे होंगे और अपनी तकनीकों को याद करने की कोशिश कर रहे होंगे कि उनका सामना किस तरह से किया जाए। मैं विराट कोहली का समर्थन करूंगा जो पूरी दुनिया में कहीं भी किसी भी समय रन बनाने की काबिलियत रखते हैं। मुझे ऐसा लगता है कि, विराट फिर से एंडरसन पर हावी रहेंगे। हालांकि ये देखना दिलचस्प होगा कि, 31 साल के कोहली किस तरह से 39 साल के एंडरसन का सामना करते हैं जो 2019 के बाद से एक भी शतक नहीं लगा पाए हैं। 

Edited By: Sanjay Savern