नई दिल्ली, पीटीआई। कर्नाटक प्रीमियर लीग में स्पॉट फिक्गिंग आरोप में गिरफ्तार किए गए सीएम गौतम को दोहरा झटका लगा है। गुरुवार को गिरफ्तारी के बाद गोवा क्रिकेट संघ ने उनका कॉन्ट्रैक्ट रद कर करने का फैसला लिया। गौतम का नाम शुक्रवार से शुरू होने जा रही घरेलू टी20 टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली के लिए चुनी गई गोवा की टीम में था।

गोवा क्रिकेट संघ के सचिव विपुल फडके ने गौतम की गुरुवार को हुई गिफ्तारी के बाद एक बयान जारी किया। इन्होंने पीटीआइ को बताया, जैसे ही खबर आई हमने उनके कॉन्ट्रैक्ट को रद करने का फैसला किया। इस बारे में हमने बीसीसीआई को लिख दिया है। उनकी जगह दर्शन मिसल को टीम का कप्तान बनाया गया है। हमने प्रथमेश को उनकी जगह टीम में शामिल कर टूर्नमेंट के लिए भेजा है।

बीसीसीआई के टी20 लीग सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के पहले मुकाबले में गोवा की टीम विशाखापत्तनम में वडोदरा के खिलाफ खेलेगी। गौतम को टूर्नामेंट में गोवा टीम की कप्तानी करनी थी लेकिन फिक्सिंग के आरोप में फंसने के बाद अब उनको टीम से बाहर करने के साथ ही कॉन्ट्रैक्ट भी रद कर दिया गया है।

बैंगलोर पुलिस के मुताबिक दोनों (गैतम और काजी) कर्नाटक प्रीमियर लीग 2019 के फाइनल में फिक्सिंग में शामिल थे। हुबली और बेल्लारी के मुकाबलों में 20 रुपये लेकर फिक्सिंग करने का आरोप है। हुबली टाइगर्स ने यह टूर्नामेंट जीता था।

33 साल के गौतम इंडियन प्रीमियर लीग में भी खेल चुके हैं। विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा रह चुके हैं। आरसीबी की तरफ से उनको खेलने का मौका नहीं मिला था लेकिन 2014 में उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मुकाबला खेला था।

 

Posted By: Viplove Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप