नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। टी20 वर्ल्ड कप 2022 के सेमीफाइनल में जब से टीम इंडिया को करारी हार मिली है। टी20 क्रिकेट और स्प्लिट कैपटेंसी को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। न्यूजीलैंड दौरे पर हार्दिक पांड्या को टीम इंडिया का कप्तान बनाकर मैनेजमेंट ने यह संकेत भी दे दिया है। हार्दिक इस रोल को आगे भी जारी रखेंगे या फिर और कोई खिलाड़ी है जो इस जगह को भर सकता है।

भारत के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर की मानें तो पृथ्वी शॉ भविष्य में टीम इंडिया की कप्तानी कर सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने हार्दिक पांड्या को भी इसका दावेदार बताया।

गंभीर का पृथ्वी शॉ को भविष्य के कप्तान के तौर पर चुनना थोड़ा अटपटा है, क्योंकि बीते जुलाई 2021 से वह टीम में अपनी जगह बनाने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं। फिक्की के एक कार्यक्रम में बोलते हुए गंभीर ने कहा कि हार्दिक पांड्या निश्चिततौर पर लाइन में हैं, लेकिन यह रोहित शर्मा के लिए दुर्भाग्यपूर्ण होगा कि उन्हें केवल एक आइसीसी इवेंट से जज किया जाएगा, जो सही नहीं है।

हालांकि, पृथ्वी शॉ के बारे में यह नहीं बताया कि वह क्रिकेट के किस फॉर्मेट में टीम इंडिया की कप्तानी कर सकते हैं। 2019 से वह टीम में जगह नहीं बना पा रहे हैं। इस साल मार्च में वह BCCI के यो-यो टेस्ट में भी फेल रहे थे। उनका स्कोर 15 रहा था, जो बीसीसीआइ द्वारा निर्धारित स्टैंडर्ड 16.5 से कम है।

पृथ्वी को चुनने के पीछे बताया कारण

पृथ्वी शॉ को भविष्य का कप्तान के तौर पर चुनने के लिए गंभीर ने कहा कि मुझे पता है कि बहुत से लोग मैदान के बाहर उसकी गतिविधियों के बारे में बात करते हैं, लेकिन कोच और चयनकर्ताओं का काम यही है।

गंभीर ने कहा, ''चयनकर्ताओं का काम सिर्फ इतना ही नहीं है कि 15 खिलाड़ी को चुन ले बल्कि लोगों को सही रास्ते पर ले जाने का काम भी उन्हीं का है। पृथ्वी शॉ एक बहुत ही आक्रामक कप्तान हो सकते हैं, एक बहुत ही सफल कप्तान, क्योंकि आप उस आक्रामकता को देखते हैं जिस तरह से एक खिलाड़ी खेलता है।"

यह भी पढ़ें-IPL 2023: अपनी बल्लेबाजी से मचाई थी भारत के खिलाफ धूम, अब IPL में भी खेलता दिखेगा यह विस्फोटक बल्लेबाज

IPL 2023: रुतुराज गायकवाड़ ने किया खुलासा; क्या करते हैं एमएस धौनी, जब हारती है CSK की टीम

Edited By: Sameer Thakur

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट