नई दिल्ली, जेएनएन। केरल के विकेटकीपर-बल्लेबाज संजू सैमसन (Sanju Samson) ने विजय हजारे ट्रॉफी टूर्नामेंट (Vijay Hazare Trophy Tournament 2019-20) के इस सीजन में दोहरा शतक लगाकर कई रिकॉर्ड्स तोड़ डाले। गोवा के खिलाफ केरल की टीम ने तीन विकेट पर 377 रन का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया। इस मैच में केरल की तरफ से सचिन बेबी ने भी 135 गेंदों पर 127 रन बनाए और अपनी पारी में 7 चौके और 4 छक्के लगाए। 

इस मैच के रियल हीरो संजू सैमसन रहे जिन्होंने 129 गेंदों पर नाबाद 212 रन की तूफानी पारी खेली। उन्होंने इस मैच में अपना शतक सिर्फ 66 गेंदों पर पूरा किया और अपनी पारी में 21 चौके व 10 छक्के लगाए। लिस्ट ए क्रिकेट में ये किसी भी विकेटकीपर-बल्लेबाज द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है। संजू ने इस्लामाबाद के आबिद अली का रिकॉर्ड तोड़ा जिन्होंने पेशावर के खिलाफ 2017-18 सीजन में नाबाद 209 रन बनाए थे। 

संजू सैमसन की इस बड़ी पारी के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने उनकी जमकर तारीफ की साथ में खुले तौर पर उनका समर्थन करते हुए सेलेक्टर्स से कहा कि उन्हें टीम इंडिया में फिर से मौका दिया जाए जिससे कि भारतीय टीम में चली आ रही नंबर चार की समस्या खत्म हो जाए। गंभीर ने संजू को टीम इंडिया में शामिल करने का अभियान चलाया क्योंकि रिषभ पंत से जिस तरह की उम्मीद की जा रही थी वो सिमित प्रारूप में खुद को उस तरह से साबित करने में नाकाम रहे हैं। गंभीर ने ट्वीट करके संजू का समर्थन किया। 

संजू सैमसन भारत के लिए चार वर्ष पहले यानी साल 2015 में एक टी20 मैच खेल चुके हैं। इस मैच में उन्होंने 19 रन बनाए थे और एक कैच पकड़ा था। इसके बाद से वो अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन उन्हें दोबारा मौका नहीं मिला। हालांकि कुछ दिन पहले टीम इंडिया के सेलेक्टर्स ने कहा था कि विकेटकीपर-बल्लेबाज के तौर पर संजू सैमसन पर भी निगाहें हैं। हो सकता है इस तरह के प्रदर्शन के बाद शायद एक बार फिर से उन्हें टीम इंडिया में शामिल होने का मौका मिल जाए। 

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप